बच्चों के निषाने पर मोदी

  |   समाचार

पठानकोट हमलों के बाद इस्लामिक देष और दूसरे आतंकी संगठन अब भारत के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को निषाना बनाना चाह रहे हैं। भारतीय सुरक्षा एजेंसियों की मानें तो आतंकी अपनी इस कारस्तानी को अंजाम देने के ेलिए बच्चों को मानव बम के रूप इस्तेमाल कर सकते हैं। एजेंसियों के मुताबिक इन बच्चों की उम्र 12-15 साल की हो सकती है और इनको हथियार और बम चलाने का प्रषिक्षण दिया गया है। सुरक्षा एजेंसियों का यह अलर्ट मिलते ही स्पेषल प्रोटेक्षन ग्रुप ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की सुरक्षा बढ़ा दी है। पिछली बार स्वतंत्रता दिवस पर प्रधानमंत्री मोदी जिस तरह सुरक्षा घेरे को पार कर बच्चों से मिलने पहुंच गए थे, इस बार सुरक्षा के मद्देनजर गणतंत्र दिवस पर सुरक्षा एजेंसियां ऐसी घटनाओं से बचना चाह रही है।

📲 Get समाचार on Whatsapp 💬