विमान दुर्घटना में नहीं मरे नेताजी

  |   समाचार

ब्रिटेन की वेबसाइट की मानें तो भारत सरकार ने अपनी सार्वजनिक फाइलों में इस बात की पुष्टि की है कि 1945 के बाद नेताजी सुभाष चन्द्र बोस अपने आखिरी दिनों में पूर्व सोवियत संघ में नहीं रहे थे। रूस ने इस सम्बंध में मॉस्को में भारतीय दूतावास को भी 1992 और 1995 में सूचित किया था कि उनके पास इस तरह के कोई सबूत नहीं हैं। 1990 के दौरान इस बाबत् प्रधानमंत्री कार्यालय से भी पत्रों का आदान-प्रदान किया गया। बोसफाइल डॉट इन्फो में भी इस बात का रहस्योद्घाटन किया गया है। अभी तक लोग यह मानते हैं कि नेताजी का 18 अगस्त 1945 में ताइपे में हुए विमान दुर्घटना में निधन हो गया था। लेकिन, वेबसाइट ने सबसे पहले इस बात का खंडन करते हुए दावा किया कि नेताजी 18 अगस्त 1945 में ताइपे में हुए विमान दुर्घटना से पहले ही सोवियत संघ से चले गए थे।

📲 Get समाचार on Whatsapp 💬