Picture submitted by DUTA User Vani (982*****32)

  |   Ganesh Slokas

॥ श्री गणपतिस्तवः॥
जगत्कारणं कारणज्ञानरूपं सुरादिं सुखादिं गुणेशं गणेशम् ।
जगद्व्यापिनं विश्ववंद्यं सुरेशं परब्रह्मरूपं गणेशं भजेम् ॥३॥

श्री गणपति स्तवः ।
हम श्री गणेश जी की पूजा करते हैं - जो ब्रह्मांड के कारण है , ज्ञान का स्रोत है, जो देवों की उत्पत्ति के कारण है , खुशी के मूल कारण है , जो सर्व गुणों के स्वामी है, जो ब्रह्मांड में व्याप्त है और सभी पूजा करते हैं, वह देवताओं के भगवान श्री गणेश जी , जो सर्वोच्च और परब्रह्म है ॥३॥

Shri Ganapati Stavah:
We worship He who is the cause of the universe, the source of knowledge, the origin of Devas; the source of happiness, the Lord of the gunas, Sri Ganesha, who pervades the universe and is worshipped by all, the Lord of the gods, Sri Ganesha, the Supreme Brahman personified. (3)