Shree Ganesh Chalisa - Shlok 9 (श्री गणेश चालिसा - श्‍लोक ९)

  |   Ganesh Slokas

श्‍लोक:
गणनायक गुण ज्ञान निधाना, पूजित प्रथम रूप भगवाना,
असा कही अंतर्ध्याना रूप हवाई, पालना पर बालक स्वरूप हवाई ॥ ९ ॥
श्‍लोक भावार्थ :
वह बेटा, अत्यन्त गुणी तथा सभी गणों के एक नेता होगा ; और दूसरों देवताओं से पहले , उसका पूजन किया जाएगा । वह अपने ही रूप में सच हो निकलेगा ; अब वह अपने बेटे के रूप में दिखाई देगा॥ ९ ॥
Shlok (Verse) Meaning:
As a Leader of all ganas, He will be worshipped before all others. He will be true in his own form ; now He will appear as her son (9)

Original photo credit : Duta User Adarsh Gupta (98*054)

मूल फोटो क्रेडिट : Duta उपयोगकर्ता आदर्श गुप्ता (९८*०५४)