Shree Ganesh Chalisa Shlok 6 (श्री गणेश चालिसा श्‍लोक ६ )

  |   Ganesh Slokas

श्‍लोक:
हूं जन्मा शुभ कथा तुम्हारी, अति शुची पावन मंगलकारी,
एक समय गिरिराज कुमारी, पुत्र हेतु तप कीन्हा भारी ॥ ६ ॥
श्‍लोक भावार्थ :
अपने जीवन की कहानी तो अजीब और रहस्यमय है, कौन है जो अपनी भव्यता का वर्णन करने का प्रयास कर सकता हैं? एक बार , एक खूबसूरत महिला शिव जी द्वारा एक पुत्र पाने के लिए , प्रार्थना कर , ध्यान में बैठी। पर शिव जी ने स्वयं अपनी पहली पत्नी सती मृत्यु के बाद से गहरे तप में थे ॥ ६ ॥
Shlok (Verse) Meaning:
As the story of your life is so strange and mysterious, who can venture to describe your magnificence, which passes all telling? Once upon a time , a beautiful woman prayed & meditated for a son (with Shiva) . But Shiva himself was in deep meditation, since the loss of his first wife Sati (6)

Original Photo credits: Duta User Shrinivas (90*967)

मूल फोटो क्रेडिट: Duta उपयोगकर्ता श्रीनिवास (९०*९६७)