Ganesh Slokas

श्री गणेश चालिसा -७-Shree Ganesh Chalisa -7

श्‍लोक:

भयो यज्ञ जब पूर्ण अनूपा, तब पहुँच्यो तुम धरी द्विजा रूपा,

अतिथि जानी के गौरी सुखारी, बहु विधि सेवा करी तुम्हारी ॥ ७ ॥

श्‍लोक भाव …

read more