कारगिल🗻 के दौरान 🇮🇳भारतीय वायु सेना✈ ने किये नियोजित ‘हवाई हमले’🎯💥

  |   समाचार

फ्रॉस्ट🐺द्वारा

🇵🇰पाकिस्तान के साथ १९९९ 🗻के कारगिल 💥युद्ध के दौरान 🇮🇳 भारतीय वायु सेना (आईएएफ) ने 🇵🇰 पाकिस्तान के अन्दर घुस कर सामरिक 🎯लक्ष्यों पर हवाई हमले और नेवी⚓ 🇵🇰के भी पाकिस्तान के बंदरगाहों के लिए इसी तरह की योजनाऐं बनाई थी। हालांकि, उसके बाद उस वक्त की एनडीए🔸 (NDA) सरकार जो, अटल बिहारी वाजपेयी के नेतृत्व में थी ने कोई एसे आदेशों👏को कभी पारित नहीं किया। वास्तव में, कैबिनेट समिति ने स्पष्ट रूप से आईएएफ ✈ को निर्देश दिए कि किसी भी परिस्थिति में नियंत्रण रेखा (एलओसी) के लाइन को पार ❌ नहीं किये जाये, ऐसा उनके पूछे जाने के बाद भी उन्हें अनुमति नहीं दी गई । 🇮🇳 भारत की एकमात्र मंशा यही थी कि यह 💥संघर्ष एक युद्ध 💥 का रूप न लेले। इस संयम😓 से वास्तव में 🇺🇸 युएस (US) की 🇵🇰 पाकिस्तान पर कारगिल 🗻 से वापसी का दबाव डालने में भारी मदद मिली। भारतीय वायुसेना के लड़ाकू पायलटों 🇮🇳 ने पहले से ही 🇵🇰 पाकिस्तान के अंदर एक गहरी हवाई हमले की तैयारी कर ली थी। इस अाशंका से कि उन्हें नीचे से गोली मारी जा सकती है, उन्हें तम्ंन्चे🔫 और 🇵🇰 पाकिस्तानी मुद्रा भी दे दी गई थी। वे अपने घर चिट्ठियाँ💌 भी लिख डाले थे कि अगर वे मिशन😢 से वापसी करने में विफल रहे तो !

“कारगिल युद्ध” के बारे में अधिक जानने केलिए टाइप करें 🔎:search Kargil war

📲 Get समाचार on Whatsapp 💬