अजमेर बम ब्लॉस्ट : भावेश पटेल और देवेंद्र गुप्ता को उम्रकैद की सजा, 2007 में हुआ था विस्फोट

  |   समाचार

राजस्थान के अजमेर में हुए बम ब्लॉस्ट में आज फैसला आ चुका है. जयपुर की विशेष अदालत ने अजमेर बम ब्लॉस्ट मामले में दो दोषियों को उम्रकैद की सजा का ऐलान किया है. अजमेर स्थित सूफी ख्वाजा मोइनुद्दीन हसन चिश्ती दरगाह परिसर में करीब ९ साल पहले धमाका हुआ था. इसमें भावेश पटेल और देवेन्द्र गुप्ता दोषी पाए गए थे.

कोर्ट की सुनवाई आज तक के लिए ताल दी थी इससे पहले १८ मार्च को फैसला सुनाया जाना था लेकिन कोर्ट ने सुनवाई आज तक के लिए टाल दी थी. राष्ट्रीय जांच एजेन्सी(एनआईए) के मामलों की विशेष अदालत के जज दिनेश गुप्ता ने ८ मार्च को फैसला सुनाया था. इसमें अजमेर स्थित सूफी संत ख्वाजा मोइनुद्दीन हसन चिश्ती की दरगाह परिसर में ११ अक्टूबर २००७ को ‘आहता ए नूर’ पेड़ के पास हुए बम विस्फोट मामले में देवेन्द्र गुप्ता, भावेश पटेल और सुनील जोशी को दोषी करार दिया था.

To read full article -https://goo.gl/kWCD3z

📲 Get समाचार on Whatsapp 💬