मिसाल: नासिक के कलेक्टर और सीईओ ने शौचालय बनाने के लिए खुद चलाया फावड़ा

  |   समाचार

कलेक्टर बी राधाकृष्णन चाहते तो पैसा जारी करके अपनी जिम्मेदारी से छुट्टी पा सकते थे लेकिन उन्होंने खुद इस नेक काम में श्रमदान करके समाज के सामने एक नजीर पेश की.

मंदाबाई ने कभी सपने में भी नहीं सोचा था कि जिला का मुखिया खुद इनका शौचालय बनाने ना सिर्फ गांव तक आएगा, बल्कि अपने हाथों से फावड़ा चलाएगा.

जिला कलेक्टर बी राधाकृष्णन और सीईओ मिलिंद शंभरकर की इस कोशिश से ना सिर्फ मंदाबाई को शौचालय बल्कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के स्वच्छता मिशन को एक नई ताकत मिली है.

To read full article - https://goo.gl/0HmSTk

📲 Get समाचार on Whatsapp 💬