बारिश⛈ ने लगाई मुंबई की रफ्तार👊 पर ब्रेक

  |   समाचार

लगातार हो रही भारी बारिश और तेज हवाओं ने मुंबई की रफ्तार पर ब्रेक लगा दिया है। हमेशा दौड़ने भागने वाली मुंबई ठप्प पड़ गई है. महानगर में रेल, सड़क सेवाएं बंद हैं। शहर के स्टेशनों पर अब भी लाखों यात्री फंसे हुए हैं. जगह जगह पेड़ उखड़े हैं, घरों में पानी भर गया है. आगे आपको तस्वीरों के जरिए दिखाते हैं कि बारिश की वजह से मुंबई में कैसे हाहाकार मचा है.मौसम विभाग का कहना है कि अगले 24 घंटे में भीषण बारिश होगी।

इसी को देखते हुए मुंबई में आज स्कूल और कॉलेज बंद कर दिए गए हैं। स्थिति पर नजर रखी जा रही है और नौसेना को सतर्क किया गया है। मुंबई स्थानीय निकाय के एक अधिकारी ने बताया कि भारी बारिश के कारण पैदा होने वाली किसी भी आपात स्थिति से निपटने के लिए एनडीआरएफ के पांच दलों को हाई अलर्ट पर रखा गया है।

इस बारिश की वजह से मुंबई में हाहाकार मचा है. कल दिन भर हुई बारिश से पूरा मुंबई समंदर में तब्दील हो गया। घर से दफ्तर के लिए निकले लोग अभी भी फंसे हुए हैं। कुल लोग पानी में ही चलते हुए अपने घरों की ओर जा रहे हैं तो कुछ ने सड़क किनारे खड़ी बसों में आसरा ले रखा है।

बारिश में फंसे लोगों के लिए सभी स्कूलो में ठहरने और खाने-पीने का पूरा इंतजाम किया गया है। मुंबई के अलग-अलग इलाकों में फंसे लोग इन जगहों पर जाकर आसानी से रात गुजार सकते हैं।

दादर के प्रभादेवी सिद्धिविनायक मंदिर में लोगों के ठहरने और खाने का पूरा इंतजाम है वहीं अंधेरी के अंधेरी स्पोर्टस कॉम्पलेक्स में भी ठहरने के इंतजाम हैं। मुलुंड के कलालिदास नृत्यागृह में भी लोगों के रात गुजारने के लिए इंतजाम हैं। इसके अलावा बाई काबिबाई स्कूल भी रात भर लोगों के लिए खुला रहेगा ताकि बारिश में फंसे लोग आसानी से अपनी रात गुजार सकें। इसके अलावा और ऐसी कई जगह हैं जहां लोगों के ठहरने के इंतजाम हैं।

खराब मौसम को देखते हुए फडणवीस सरकार ने मुंबई के एंट्री प्वाइंट्स, बांद्रा-वर्ली सीलिंक पर टोल लेने पर लोक लगाई। यहां टोल की वजह से लंबा जाम लग रहा था।खराब हालात को देखते हुए बीएमसी ने अपने सारे कर्मचारियों की छुट्टियां रद्द की। सबको काम पर लौटने को कहा.दफ्तरों से घर लौटने वाले लोग बारिश की वजह से देर रात जहां-तहां फंसे रहे। डूबी हुई सड़कों में लेट नाइट तक बसें चलती रहीं।

यहां पढ़ें पूरी खबर-http://v.duta.us/IXqqIwAA

📲 Get समाचार on Whatsapp 💬