शतक नहीं टीम🇮🇳 को जीत दिलाना ✌होता है लक्ष्य: विराट कोहली

  |   क्रिकेट

भारतीय कप्तान विराट कोहली का मानना है कि वह शतक के करीब पहुंचने पर सिर्फ अपनी बल्लेबाजी के बारे में सोचते हैं. कोहली ने अपनी सफलता का सुत्र बताते हुए कहा शायद यही कारण है कि वह इस उपलब्धि को अधिक बार हासिल करते हैं.

कोहली वनडे में 30 शतक के साथ ऑस्ट्रेलिया के पूर्व कप्तान रिकी पोंटिंग के साथ सर्वाधिक शतकों के मामले में संयुक्त रूप से दूसरे स्थान पर हैं. इन दोनों से अधिक शतक भारत के दिग्गज सचिन तेंदुलकर के नाम दर्ज है जिन्होंने 49 शतक मारे हैं.

यह पूछने पर कि क्या यह आंकड़े उनके दिमाग में रहते हैं, कोहली ने कहा, ‘‘मैं शतक के लिए नहीं खेलता, शायद यही कारण है कि मैं इसे अधिक बार हासिल करने सफल रहता हूं. क्योंकि मैं इसके बारे में नहीं सोचता. इसलिए मैं खुद को दबाव में नहीं लाता कि मुझे यह उपलब्धि हासित करने की जरूरत है. मेरे लिए सबसे महत्वपूर्ण टीम के लिए मैच जीतना है.’’ अगर टीम जीत दर्ज करती है तो कोहली को 98 या 99 रन पर नाबाद रहने में भी कोई समस्या नहीं है.

उन्होंने कहा, ‘‘जैसा कि मैंने पहले कहा अगर मैं 98 या 99 रन पर नाबाद रहता हूं तो मुझे कोई फर्क नहीं पड़ता, जब तक कि मैं मैच जीत रहा हूं. इस प्रक्रिया के बीच चीजें हो जाती हैं क्योंकि आप अंत तक टिके रहना चाहते हैं.’’ कप्तान ने जोर देकर कहा कि वह जब तक भी शीर्ष स्तर का क्रिकेट खेलते रहेंगे जब तक उनकी धारणा यही रहेगी.

यहां पढ़ें पूरी खबर-http://v.duta.us/G-_wygAA

📲 Get क्रिकेट on Whatsapp 💬