👉बीएचयू मामले की जांच 📄में विश्वविद्यालय प्रशान को 🤜माना दोषी

  |   समाचार

बनारस हिंदू विश्वविद्यालय (बीएचयू) में शनिवार की रात को छात्राओं पर हुए लाठीचार्ज के मामले में बनारस के कमिश्नर नितिन गोकर्ण ने अपनी रिपोर्ट तैयार कर ली है। सूत्रों के मुताबिक इस रिपोर्ट में उन्होंने यूनिवर्सिटी प्रशासन को लापरवाही का दोषी ठहराया है।

कमिश्नर ने जांच के दौरान वाइस चांसलर और पीड़ित लड़की समेत 12 लोगों के बयान लिए। रिपोर्ट में यह भी कहा गया है कि यूनिवर्सिटी प्रशासन ने मामले को गलत तरीके से हैंडल किया और वक्त रहते इसका हल नहीं निकाला। रिपोर्ट में यह भी कहा गया है कि अगर वक्त रहते इस मामले को सुलझा लिया गया होता तो इतना बड़ा विवाद खड़ा नहीं होता। रिपोर्ट के अनुसार इस पूरे मामले में सबसे बड़ा दोष प्रशासन का ही है, वह चाहते तो यह मामला आराम से निपट सकता था।

बीएचयू में छात्राओं से बदसलूकी और फिर विरोध करने पर लाठीचार्ज के मामले में सवालों से घिरे वीसी फिर अपने गैर-जिम्मेदाराना बयानों को लेकर सवालों में हैं। वीसी ने कहा कि छेड़खानी सिर्फ हमारी यूनिवर्सिटी में ही नहीं, देश भर में होती है। पीएम के दौरे से एक दिन पहले जान-बूझकर ये घटना करवाई गई. वीसी यहीं नहीं रुके।

यहां देखें फोटो-http://v.duta.us/z-VS4wAA

📲 Get समाचार on Whatsapp 💬