🤜नए नियम से राजस्थान🏏 रॉयल्स को सबसे अधिक 👎नुकसान

  |   क्रिकेट

इंडियन प्रीमियर लीग के नए सीजन से पहले रिटेनशन पॉलिसी और राइट टू मैच कार्ड ने कई टीमों को राहत दी होगी। आईपीएल की आठों टीम नए सीजन में अपने पांच खिलाड़ी को रिटेन कर सकती हैं।

इस पॉलिसी का सबसे ज्यादा फायदा दो साल बाद वापसी करने वाली चेन्नई सुपर किंग्स और तीन बार खिताब अपने नाम करने वाली मुंबई इंडियंस को होगा। दूसरी टीम भी अपने पसंद के खिलाड़ियों को रिटेन कर सकती है। लेकिन एक टीम है जिसे सबसे ज्यादा नुकसान होता दिख रहा है। वो टीम है पहले सीजन की चैंपियन राजस्थान रॉयल्स।

दो साल के लिए बैन हुई रॉयल्स की लास्ट यानी 2015 की टीम को देखें तो टीम में सिर्फ '10 अच्छे' खिलाड़ी थे, जिनमें अजिंक्य रहाणे, कप्तान स्टीव स्मिथ, धवल कुलकर्णी और जेम्स फॉक्नर ही रिटेन होने के लिए उपलब्ध हो पाएंगे। दूसरी तरफ शेन वाटसन, क्रिस मोरिस, संजू सैमसन,टिम साउदी, करुण नायर और बैन कटिंग टीम पर बैन लगने के बाद दूसरे पुराने फ्रेंचाइजी के पास चले गए।

टीम को सबसे अधिक नुकसान संजू सैमसन और क्रिस मोरिस के रूप में लगने वाला है। दोनों ही खिलाड़ी अगल ऑक्शन के लिए जाते हैं तो संभवत उनपर ऊंची बोली लगनी तय है। वहीं दिल्ली डेयरडेविल्स अगर चाहे तो इन दोनों ही धाकड़ खिलाड़ियों को रिटेन कर सकती है।

नए सीजन के लिए बनाए गए नए रिटेन पॉलिसी को लेकर बीसीसीआई का मानना है उन्होंने हर टीम को बराबरी का मौका दिया है ताकि टूर्नामेंट रोमांचक और मजेदार हो सके लेकिन अब बीसीसीआई भी ये मानती है कि कहीं न कहीं राजस्थान रॉयल्स को नुकसान होगा।

यहां पढ़ें पूरी खबर-http://v.duta.us/qMR8xAAA

📲 Get LIVE क्रिकेट स्कोर on Whatsapp 💬