👉राजसमंद मर्डर: 6 साल पुरानी 😱घटना से जुड़े हैं वारदात के 👊तार

  |   समाचार

राजस्थान के राजसमंद में लव जिहाद के नाम पर एक मुस्लिम व्यक्ति की हत्या कर जिंदा जलाने वाले आरोपी शंभूलाल रैगर को 3 दिन की पुलिस रिमांड पर भेज दिया गया है। पुलिस ने आरोपी को राजसमंद की एडिशनल चीफ जुडिशियल मजिस्ट्रेट कोर्ट में पेश किया, जहां से उसे पुलिस रिमांड पर भेज दिया गया।

सरकारी वकील ने रैगर के लिए अदालत से पांच दिन की पुलिस रिमांड की मांग की थी। रैगर ने अदालत में दावा किया कि उसे पीड़ित के परिवार से धमकी मिली थी, जिसके बाद उसने पीड़ित अफराजुल उर्फ भुट्टा की हत्या कर दी। पुलिस का कहना है कि रैगर छह साल पुरानी घटना को इस वारदात से जोड़ने की कोशिश कर रहा है। ज्ञात हो कि इस सप्ताह की शुरुआत में रैगर ने तेज धारदार हथियार से अफराजुल की हत्या कर दी और उसके बाद पेट्रोल छिड़कर आग लगा दी।

रैगर का कहना है कि पीड़ित उसके मोहल्ले की एक लड़की को बंगाल भगा ले गया था। इसके बाद वह लड़की को वापस लाने बंगाल गया था। उसके बाद से ही वह पीड़ित की आंख में चुभ गया था। रैगर ने पीड़ित पर अपने परिवार को जान से मारने की धमकी देने का भी आरोप लगाया था। लेकिन पुलिस का कहना है कि यह पूरा वाकया 6 साल पुराना है।

आरोपी शंभूलाल रैगर के अलावा पूरे वारदात की वीडियो बनाने वाले उसके नाबालिग भांजे को चाइल्ड वेलफेयर कमिटी के समक्ष पेश किया गया। कमिटी ने 15 वर्षीय लड़के को किशोर अपराधी मानते हुए उसे बाल सुधार गृह भेजने का आदेश दे दिया।

पुलिस को शुरुआती जांच में रैगर के पास से हिंदू-मुस्लिम विवाद से जुड़े यूट्यूब, टेलीविजन चैनलों के न्यूज क्लिप्स और लव जिहाद से जुड़ा ढेरों साहित्य बरामद हुआ है। ऐसी शंका जताई जा रही है कि कोई संगठन उसे यह सामग्री उपलब्ध करा रहा था और उसी संगठन के संपर्क में आने से उसके दिमाग में मुस्लिमों के प्रति नफरत और लव जिहाद का जहर भर गया।

हालांकि पुलिस को रैगर का पिछला कोई आपराधिक रिकॉर्ड नहीं मिला है। पुलिस ने मामले में पूछताछ के लिए 10 अन्य व्यक्तियों को भी हिरासत में लिया है। इस बीच, उदयपुर में मुस्लिम समुदाय ने शुक्रवार को हाथीपोल से एक बड़ा जुलूस निकाला । मुस्लिम महासाभा के सदस्यों ने राजसमंद हत्याकांड की निंदा की और आरोपी के लिए मौत की सजा की मांग की।

यहां पढ़ें पूरी खबर-http://v.duta.us/FWJPrAAA

📲 Get समाचार on Whatsapp 💬