👉बीसीसीआई ने चार साल🏏 बाद आरसीए से हटाया 👌बैन

  |   क्रिकेट

क्रिकेट की दुनिया में सोमवार का दिन राजस्थान क्रिकेट के लिए बड़ा दिन है। बीसीसीआई ने दिल्ली में आयोजित अपनी स्पेशल जनरल मीटिंग में राजस्थान क्रिकेट एसोसिएशन पर गत चार वर्ष से लगाए गए बैन को हटा दिया है। बीसीसीआई के इस फैसले के बाद राजस्थान के क्रिकेट पे्रमियों में खुशी की लहर है। क्रिकेट खिलाडिय़ों सहित जिला क्रिकेट संघों के पदाधिकारियों ने मिठाई बांटकर खुशी जताई है। हालांकि मामले में अभी कोर्ट की ओर से फैसला आना बाकी है।

बीसीसीआई की एसजीएम के बाद कार्यवाहक अध्यक्ष सीके खन्ना ने बताया कि आरसीए पर बैन हटा दिया गया है। ऐसे में अब राजस्थान में अंतरराष्ट्रीय मैचों की वापसी का भी रास्ता साफ हो गया है। प्रतिबंध हटाए जाने को लेकर दौसा जिला क्रिकेट संघ से सचिव प्रदीप नागर ने खुशी जताते हुए कहा है कि इससे राजस्थान की क्रिकेट एक बार फिर से पटरी पर आ सकेगी।

गौरतलब है कि बीसीसीआई ने इसी साल जून में ललित मोदी को हिंदुस्तान की क्रिकेट से पूरी तरह बाहर कर दिया था। बीसीसीआई के दबाब के बाद राजस्थान क्रिकेट एसोसिएशन ने ललित मोदी की क्रिकेट की जड़ में वार किया। ललित मोदी की अगुवाई वाले नागौर जिला क्रिकेट को निलंबित कर दिया।

इतना नहीं मोदी समेत नागौर जिला क्रिकेट की पूरी टीम को भी सस्पेंड कर दिया। ललित मोदी के लिए ये बड़ा झटका था क्योंकि इस जिला संघ की कुर्सी की बदौलत ही वह अप्रत्यक्ष तौर पर आरसीए की सत्ता में बने हुए थे। कई बार आरसीए का चुनाव हारने के बावजूद दबदबा कम नहीं हुआ।

इस दबदबे की वजह से बीसीसीआई में ललित मोदी के विरोधी परेशान थे। वह भले ही भारत छोडकऱ भाग गए हों, लेकिन आरसीए का अध्यक्ष रहते हुए लंदन में बैठकर ही पूरा नियंत्रण रखा। बीसीसीआई ने चुनाव से पहले ही आरसीए को धमकी दी थी कि मोदी को चुनाव लडऩे से रोके। यदि व जीत गया तो आरसीए को निलम्बित कर दिया जाएगा।

यहां देखें फोटो-http://v.duta.us/zu7higAA

📲 Get LIVE क्रिकेट स्कोर on Whatsapp 💬