👉हैकर्स ने एटीएम से चुराए 💴10 मिलियन डॉलर, नहीं मिला 😱कोई ट्रेस

फिल्मों में बैंक चोरी खूब देखी होगी लेकिन अब दूसरे तरह की चोरी हो रही है और नकली नहीं बल्कि असली चोरी। ताजा मामला है हैकिंग का, रूस के हैकर्स ने अमेरिका और रूस के 18 बैंकों से लगभग 10 मिलियन डॉलर चोरी कर लिए हैं। मॉस्को स्थित सिक्योरिटी फर्म ने कहा है कि हैकर्स ने टार्गेटिंग इंटरबैंक ट्रांसफर सिस्टम का इस्तेमाल करते हुए पैसे उड़ाए हैं।

हाई टेक क्राइम और ऑनलाइन फ्रॉड की जांच करने वाली इंटरनेशनल कंपनी ग्रुप आईबी ने अगाह किया था जो 18 महीने पहले शुरू हुआ था। बैंक के सारे पैसे हैकर्स ने एटीएम से चुराए हैं। ग्रुप आईबी ने अपनी रिपोर्ट में कहा है कि पहला अटैक 2016 के मिड में हुआ और इसके तहत अमेरिका के सबसे बड़े बैंक मैसेजिंग सिस्टम स्टार को निशाना बनाया गया जिससे 5,000 से ज्यादा एटीएम कनेक्टेड थे।

एक बयान में फर्स्ट डेटा ने कहा है कि छोटे फिनांशियल संस्थानों में स्टार नेटवर्क का इस्तेमाल हो रहा था और यहां से 2016 की शुरुआत में डेबिट क्रेडिट कार्ड्स की जानकारियां चोरी की गईं। हालांकि फर्स्ट डेटा ने यह भी कहा है कि स्टार नेटवर्क में कभी सेंध नहीं लगी बल्कि उन छोटे संस्थानों की सिक्योरिटी में सेंध लगाई गई है।

ग्रुप आईबी ने पैसे चुराने वाला इस हैकर ग्रुप का नाम MoneyTaker बताया है। पेमेंट ऑर्डर को हाईजैक करने के लिए हैकर्स ने इसी नाम का सॉफ्टवेयर यूज किया है। सिक्योरिटी रिसर्चर्स का कहना है कि उन्होंने 18 बैंको की पहचान की है जिसपर अटैक किया गया है। इनमे से 10 बैंक अमेरिका के हैं, दो बैंक रूस के हैं जबकि 1 ब्रिटेना का बैंक है। बैंक के अलावा फिनांशियल कंपनियां और एक लॉ फर्म को भी इस हैकिंग का निशाना बनाया गया है।

ग्रुप आईबी की एक रिपोर्ट के मुताबिक हर बैंक से चोरी किए गए पैसों का ऐवरेज निकालें तो अमेरिका के 14 एटीएम से हर घटना पर 5 लाख डॉलर चोरी किए गए हैं। रूस में हर घटना पर चुराए जाने वाले पैसों का ऐवरेज 1।2 मिलियन डॉलर है।

यहां पढ़ें पूरी खबर-http://v.duta.us/r4V7RgAA

📲 Get Tech and Gadget News in Hindi on Whatsapp 💬