नोटबंदी 💴❌लील गई परिवार, मुखिया ने👉 पूरे परिवार को सुला दिया मौत🔪 की नींद

  |   समाचार

तमिलनाडु की राजधानी चेन्नई में एक दिल दहला देने वाली घटना सामने आई है। एक जने ने अपने पूरे परिवार की हत्या कर आत्महत्या का करने के लिए खुद का भी गला काट लिया, लेकिन पुलिस ने पहुंचने तथा उसे अस्पताल पहुंचाने से वह बच गया। पुलिस ने मौके से एक सुसाइड नोट भी बरामद किया है। जिसमें उसने पूरी वारदात के लिए नोटबंदी को जिम्मेदार ठहराया है।

पुलिस ने बताया कि चेन्नई के शंकर नगर क्षेत्र निवासी दामोदरन ने गत मंगलवार को घर में काम आने वाले चाकू से अपनी मां, पत्नी, 7 साल के बेटे और 5 साल की बेटी की गला रेतकर हत्या कर दी थी। उसके बाद उसने उसी चाकू से अपना भी गला काट लिया। सूचना पर पहुंची पुलिस ने दामोदरन को अस्पताल पहुंचाया, जहां उसका उपचार जारी है। पुलिस ने मौके से एक सुसाइड नोट भी बरामद किया है। जिस पर खून के धब्बे लगे हुए हैं।

पुलिस ने बताया कि दामोदरन ने यह सुसाइड नोट अपने एक रिश्तेदार को लिखा था, जिसमें उसने कहा है कि उसे कारोबार में भारी नुकसान उठाना पड़ा है और इसी के चलते वह यह खतरनाक कदम उठा रहा है। दामादोरन ने नोट में अपने बिजनेस और लेनदेन के बारे में विस्तार से लिखा है।

सुसाइड नोट में लिखा कि नोटब्ंदी के बाद से ही उसके पूरे परिवार को बड़ी परेशानी झेलनी पड़ रही है। वह सिर्फ खुद ही आत्महत्या करना चाहता था, लेकिन उसके परिवार वाले पहले कई मुसीबतें झेल चुके हैं। ऐसे में वह उन्हें अकेला छोडकऱ और मुसीबत में नहीं डालना चाहता।

सुसाइड नोट के आखिरी पेज में लिखा हुआ है कि केंद्र सरकार द्वारा नोटबंदी की घोषणा किए जाने के बाद से ही उसका कारोबार गिरता ही चला गया और फिर कभी इससे उबर नहीं सका। उसे बार-बार कर्ज लेना पड़ा, लेकिन जिनसे मदद की उम्मीद थी वे बार-बार मेरी मदद नहीं कर सके। अगर यही स्थिति बनी रही तो और भी कई परिवारों का यही हाल होगा। सबसे बुरा तो यह है कि राज्य सरकार को भी कोई फर्क नहीं पड़ता है।

यहां देखें फोटो-http://v.duta.us/EDRkGAAA

📲 Get समाचार on Whatsapp 💬