🏕दार्जिलिंग में दूसरे दिन रही 😈तनावपूर्ण शांति

  |   समाचार

पश्चिम बंगाल में दसवीं तक स्कूलों में बांग्ला भाषा अनिवार्य करने के विरोध में गुरुवार को दार्जिलिंग में हुई हिंसा के बाद शुक्रवार को तनावपूर्ण शांति रही।

हिंसा के दौरान ममता बनर्जी दार्जिलिंग में ही केबिनेट की बैठक ले रही थी। उस दौरान प्रदर्शनकारियों ने पुलिस के कई वाहनों में तोडफ़ोड़ कर कुछ को आग के हवाले कर दिया था। हालात बेकाबू होने पर सेना को बुलाया गया था।

बनर्जी ने गोरखा जनमुक्ति मोर्चा की हड़ताल को अवैध करार दिया है। सेना के प्रवक्ता ने कहा कि प्रदेश सरकार के अनुरोध पर दार्जीलिंग में सेना की दो टुकडिय़ां भेजी गई है। प्रदर्शनकारी स्कूलों में बांग्ला भाषा लागू किए जाने के विरोध में प्रदर्शन कर रहे हैं।

जीजेएम ने तृणमूल कांग्रेस पर फूट डालो, राज करो की नीति के तहत शांतिभंग कराने का आरोप लगाया है। इधर, मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने जीजेएम के प्रदर्शन को बिना मुद्दे का बताया है। उन्होंने कहा कि बांग्ला भाषा को स्कूलों में अनिवार्य विषय नहीं बनाया गया है।

📲 Get समाचार on Whatsapp 💬