[bhadohi] - डेंगू से मरीज की मौत

  |   Bhadohinews

भदोही। जिले में फैला डेंगू का प्रकोप भयावह रूप लेता जा रहा है। मंगलवार को देर रात डेंगू ने एक और युवक की जान चली गई। भदोही नगर के बरबसपुर निवासी युवक की वाराणसी के एक निजी अस्पताल में उपचार के दौरान मौत हो गई। इसके साथ ही जिले में डेंगू से मरने की वालों की संख्या चार पहुंच गई है। खतरनाक बुखार से एक के बाद एक मौतें होने से आमजन में दहशत बढ़ गई है। वहीं, नगर निकाय और स्वास्थ्य महकमा बीमारी की रोकथाम के प्रति उदासीन बने हुए हैं। केवल छिड़काव कराकर शांत बैठे हैं।

मृतक राजू सोनकर के भाई अधिवक्ता विनोद सोनकर ने बताया कि बीमारी के बाद हम लोग तत्काल राजकीय अस्पताल ले गए। चिकित्सक की सलाह पर निजी पैथॉलाजी से जांच रिपोर्ट शाम को आई। अगली सुबह चिकित्सक को दिखाया, जिन्होंने रिपोर्ट देखकर वाराणसी ले जाने की सलाह दी। वाराणसी पहुंचते ही हमारे भाई ने दम तोड़ दिया। उधर, डेंगू के चलते मौतों का सिलसिला जारी रहने से लोगों में दहशत है। बुखार और मलेरिया के पीड़ित भी भय में जी रहे हैं। नगर के निजी अस्पतालों में कई मरीज जिनमें डेंगू के लक्षण पाए गए हैं, जिनका उपचार चल रहा है। गत दिनों निजी चिकित्सक डॉ. आरके पटेल ने चार मरीजों के ब्लड सैंपल डेंगू के प्रारंभिक जांच के लिए सीएचसी भेजवाए थे। हालांकि में उनमें से केवल एक मरीज की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। वहीं, सीएचसी के अधीक्षक डा.वीके सिंह ने कहा कि डेंगू से घबराने की जरूरत नहीं है। बल्कि जागरूक होकर किसी अच्छे चिकित्सक से परामर्श लेना चाहिए। प्रारंभिक दौर में डेंगू का पता लगने से इसका उपचार सरल हो जाता है। कहा कि डेंगू में उपचार का महत्व है। लापरवाही से छोटी सी समस्या बड़ी हो सकती है। कहा कि सीएचसी में प्रारंभिक जांच तो संभव है लेकिन अंतत: बीएचयू में जांच के लिए भेजना पड़ता है।

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/D1gWfgAA

📲 Get Bhadohi News on Whatsapp 💬