[indore] - पति ओर सास ने पांच लाख के लिए बहू के साथ किया ये काम, अब फंस गया पेंच

  |   Indorenews

इंदौर. पांच लाख रुपए दहेज के लिए बहू को परेशान करने वाली सास, जेठ और पति को निचली अदालत द्वारा 2 साल की सजा सुनाई गई थी। इस फैसले को आरोपी पक्ष ने सेशन कोर्ट में चुनौती दी थी। अपर सत्र न्यायाधीश राघवेंद्रसिंह चौहान ने निचली अदालत के फैसले को सही बताया है। 10 साल प्रताडि़त होने के बाद महिला ने थाने में शिकायत की थी।

एडवोकेट अमरसिंह राठौर के मुताबिक, इंदौर की जया का विवाह 28 अप्रैल 1999 को धर्मेंद्र जोशी के साथ हुआ था। शादी के दो साल बाद धर्मेंद्र, उसकी मां कमला और जेठ अशोक जोशी दहेज के लिए उसे परेशान करने लगे। कभी मकान के लिए तो कभी गाड़ी के लिए मानसिक और शारीरिक प्रताडऩा देते रहे। 2009 में पांच लाख रुपए के लिए जया को घर से निकाल दिया। इस पर जया ने घरेलू हिंसा और दहेज प्रताडऩा का केस दर्ज कराया। 2015 में निचली अदालत ने आरोपियों को दोषी पाते हुए 2-2 साल की सजा सुनाई थी। इसके खिलाफ आरोपियों ने सेशन कोर्ट में अपील की थी। जया सहित अन्य गवाहों के प्रतिपरीक्षण में प्रताडऩा को लेकर अविश्वास नहीं होने पर कोर्ट ने सजा की पुष्टि की है।

फोटो - http://v.duta.us/moCx0gAA

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/1JH-VAAA

📲 Get Indore News on Whatsapp 💬