[jaipur] - यहां ​िफल्मों की तरह देरी से नहीं बल्कि सही समय पर पहुंची पुलिस, बचाई 5 की जान

  |   Jaipurnews

सुजानगढ़. चूरू.यहां मंगलवार देर रात कोठारी रोड स्थित रेडिमेड कपड़ों के गोदाम में आग लगने से गोदाम के ऊपर मकान में रहे तीन बच्चों सहित पांच जनों के प्राण संकट में पड़ गए थे। आकाश छूती आग की लपटें और दम घोटता धुआं, मानो सब कुछ खत्म होने वाला था। तभी तीन पुलिसकर्मी अपनी जान को जोखिम में डालकर वहां रक्षक बनकर पहुंचे और सबको सकुशल बाहर निकाल लिया।

यहां गोदाम मालिक मदन प्रजापत व कन्हैयाला प्रजापत के परिवार के लोग गोदाम के उपर फ्लैट में रह रहे थे। देर रात आग की लपटें इनके फ्लैट तक पहुंच गई। यहां मौजूद राजकुमारी, उसकी पुत्री भावना (12), लोकांक्षी (4), सुमनदेवी व इसका पुत्र अंशु (13) का धुएं से दम घुट रहा था। ऐसे में सूचना पर मौके पर पहुंची पुलिस के सिपाही महावीर प्रसाद, विजयपाल व सुमित कुमार ने अपनी जान जोखिम में डालकर पांचों जिंदगियां बचाने का बीड़ा उठा लिया। तीनों सिपाही आग से घिरे गोदाम की दूसरी मंजिल पर बने मकान की छत पर चले गए। यहां तीनों ने छत की लगी लोहे की जाली को तोड़कर पांचों को सीढ़ी के जरिए छत पर निकाल लिया। यहां छत से पड़ौसी की 20 फीट नीचे छत से सीढ़ी व रस्सी के सहारे उतारकर बचा लिया। गौरतलब है कि आग लगने से लाखों रुपए का सामान जलकर राख हो गया। मंगलवार को ही दिल्ली से 10 गांठों में समान आया था। वह भी अन्य समान के साथ जल गया। आग से गोदाम, प्रथम मंजिल के कमरों व द्वितीय मंजिल के आवासीय भवन को भी नुकसान पहुंचा है। आग पर करीब दो घंटे में काबू पा लिया गया। खराब दमकल के कारण टैंकरों से आग पर काबू पाया गया। प्रत्यक्षदर्शियों ने बताया कि आग लगने के कुछ देर बाद ही लपटों व धुएं से आसमान अट गया। फपर की इमारत में फंसे लोग चिल्लाने लगे। उनकी हालत खराब हो चुकी थी। ऐसे में ये तीनों पुलिसकर्मी आगे आए।

फोटो - http://v.duta.us/oCk0cAAA

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/eJLF-QAA

📲 Get Jaipur News on Whatsapp 💬