[lakhimpur-kheri] - बाघ असामान्य व्यवहार करें, तो समझो हुआ खतरनाक

  |   Lakhimpur-Kherinews

तो बाघों का गन्ने के खेतों में रहना सामान्य व्यवहार

विशेषज्ञों ने माना खीरी के जंगल के बाहर बाघों का व्यवहार असामान्य नहीं

लखीमपुर खीरी। बाघ का असामान्य व्यवहार इस बात का संकेत है कि वह खतरनाक हो चुका है। वन्यजीव विशेषज्ञों का मानना है कि बाघ विशेष परिस्थितियों में ही हिंसक होकर इंसानों और बंधे हुए पालतू जानवरों पर हमला करता है। बीमार, कमजोर या चलने फिरने में असमर्थ होने पर बाघ आसान शिकार की तलाश में रहता है। ऐसे में उसके नरभक्षी होने का खतरा बढ़ जाता है। अपने शावकों के साथ होने पर बाघिन भी बच्चों की सुरक्षा के लिए हिंसक और खतरनाक हो सकती है। वन विभाग के अफसरों की माने तो खीरी में जंगल के बाहर खेतों में भ्रमण कर रहे बाघों की गतिविधियां किसी भी स्थिति में असामान्य नहीं हैं।...

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/AExQnwAA

📲 Get Lakhimpur Kheri News on Whatsapp 💬