[pali] - इंतजार में बीता एक साल, न टेंडर हुए न ताले खुले

  |   Palinews

रायपुर मारवाड़. रोडवेज के पास कार्मिकों की कमी है। इससे बर रोडवेज बुकिंग पर पिछले एक साल से ताला लगा हुआ है। महकमे के जिम्मेदारो में टेंडर बेस पर बुकिंग संचालित के दावे किए थे, लेकिन आज तक न तो टेंडर हुए और न ही बुकिंग कार्यालय ताले के कैद से आजाद हो पाई है। ये अनदेखी यात्रियों काफ ी भारी पड़ रही है, लेकिन परवाह किसी को नहीं है।

दरअसल, बर की पहचान ही तीन जिलों को जोडऩे वाले तिराहे के रूप में होती है। जोधपुर, पाली, जयपुर जिलों को आपस मे जोडऩे वाले इस तिराहे पर रोडवेज की प्रत्येक बस का ठहराव है। इससे क्षेत्र के दर्जनों गांवों के लोग विविध साधनों से बर पहुंच यहीं से बस में सवार होकर यात्रा शुरू करते हैं। इससे इस चौराहे पर आठों पहर यात्रियों की आवाजाही रहती है।...

फोटो - http://v.duta.us/zMCtngAA

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/8gkqvgAA

📲 Get Pali News on Whatsapp 💬