[sagar] - MP Elections 2018 चौहान अच्छे, लेकिन उमा आ जेहें तो कोउ हमाई सुन तो लैहे

  |   Sagarnews

शैलेंद्र तिवारी. बड़ा मलहरा.पूर्व मुख्यमंत्री उमा भारती के क्षेत्र के वोटर अपनी अनदेखी से खफा हैं। वे सिस्टम में व्याप्त भ्रष्टाचार की शिकायत खुलकर करते हैं। वहीं, कृषि उपज मंडी की व्यवस्थाओं और भावांतर योजना में भी खामियां बताते हैं। यहां के वोटरों के लिए सरकारी दफ्तरों में हो रहा भ्रष्टाचार और खेती से जुड़ी समस्याएं बड़े चुनावी मुद्दे हैं।

चौ हान अच्छे हैं, लेकिन उमा आ जेहें तो कम से कम कोउ हमाई सुन तो लैहे। अबै कोउ नहीं सुनत। मंडी वारे हमाए पैसा खा जात... का सई में उमा फिर से बन सकती हैं... चुनाव के सवाल का जवाब देते-देते कुतुवां यादव ने खुद सवाल कर लिया। उमा के नाम पर उनके चेहरे पर चमक आ गई। कुतुवां, उमा भारती की गृह विधानसभा बड़ा मलहरा की चौरई पंचायत के सेमरापुल गांव के हैं। बुंदेलखंड में उमा भारती की बात न हो, ऐसा नहीं हो सकता। कुतुवां ने कहा, पटवारी से लेकर तहसीलदार तक पैसा लेकर भी काम नहीं कर रहे हैं। बाबूलाल बोले, पिताजी के निधन के बाद हम चारों भाइयां ने बंटवारा कराया। पटवारी ने आठ हजार रुपए ले लिए और काम नहीं किया। तहसीलदार से मिला, उन्हें सब बताया तो उन्होंने भी भरोसा देकर रवाना कर दिया। कोई सुनता ही नहीं है। उमा भारती से चर्चा छूटकर भावांतर तक आ गई। पूछ लिया कि क्या पैसा मिल रहा है। कुतुवां, बाबूलाल, संजय और उत्तम ने कहा, भावांतर में अभी चना बेचा है। भाव 45 रुपए किलो का था, लेकिन 40 रुपए ही दिया गया। मंडी वालों से पूछा तो जवाब मिला, लेना है तो ये ले लो, घर से दे रहे हैं... तुम्हारा तो आया ही नहीं है।...

फोटो - http://v.duta.us/1C4IngAA

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/FQ3Z5QAA

📲 Get Sagar News on Whatsapp 💬