[uttar-pradesh] - छलका गुलाम नबी का दर्द, कहा- चुनाव प्रचार के लिए अब नहीं बुलाते हिंदू नेता

  |   Uttar-Pradeshnews

कांग्रेस नेता गुलाम नबी आजाद ने कहा कि उनकी अपनी पार्टी उन्हें चुनाव प्रचार के लिए नहीं बुलाती है क्योंकि उसे डर है कि उनके प्रचार करने से हिन्दू वोट छिटक सकते हैं. कुछ ऐसा ही बयान समय पूर्व दिग्विजय सिंह ने भी दिया था.

अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवार्सिटी में एलुमिनी मीट के दौरान गुलाम नबी ने कहा कि जब मैं यूथ कांग्रेस में था तब मैं पूरे देश में चुनाव प्रचार करता था. अंडमान निकोबार से लेकर लक्षद्वीप तक. मुझे प्रचार के लिए बुलाने वाले 95% मेरे हिन्दू भाई थे और सिर्फ 5% मुस्लिम मुझे बुलाते थे.

आगे गुलाम नबी ने कहा कि पिछले 4 सालों में मैंने गौर किया है कि ये आंकड़ा 95% से घटकर 20% रह गया है. इससे ये पता चलता है कि कुछ तो गड़बड़ है. आज लोग बुलाने से डरते हैं कि अगर मुझे बुलाया तो इसका वोट पर क्या असर होगा.वहीं गुलाम नबी के इस बायन पर बीजेपी ने कड़ी प्रतिक्रिया दी है. उन्होंने इस बयान को अपमान करने वाला बताया है, साथ ही इसे 'अपशब्द' करार दिया है. बीजेपी प्रवक्ता संबित पात्रा ने कहा कि आजाद को चुनाव प्रचार के लिए कम संख्या में उम्मीदवारों द्वारा आमंत्रित करने का साधारण कारण कांग्रेस की घटती लोकप्रियता है. उन्होंने कहा कि इसके लिए आजाद ने हिंदू-मुस्लिम कोण का इजाद किया है....

फोटो - http://v.duta.us/EthAcgAA

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/0xFZvwAA

📲 Get UttarPradesh News on Whatsapp 💬