🙅‍♂️10 हजारी कोहली बोले- देश के लिए खेलकर🙋‍♂️किसी पर अहसान नहीं कर रहा😨

  |   क्रिकेट

देश के लिए खेलना ‘किसी पर अहसान करना नहीं’ है और शायद यही कारण है कि अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में दस साल बिताने के बावजूद भारतीय कप्तान विराट कोहली खुद को ‘कुछ विशिष्ट का हकदार’ नहीं मानते हैं.

कोहली ने वनडे में 10,000 रन सबसे कम पारियों में पूरे करके सचिन तेंदुलकर का रिकॉर्ड तोड़ा. उनका मानना है कि कुछ भी तयशुदा नहीं मानना चाहिए.

कोहली ने बीसीसीआई.टीवी से कहा, ‘मेरे लिए देश का प्रतिनिधित्व करना बहुत बड़ा सम्मान है और यहां तक कि दस साल खेलने के बाद भी मुझे ऐसा अहसास नहीं होता कि मैं किसी खास चीज का हकदार हूं. आपको तब भी अंतरराष्ट्रीय स्तर पर प्रत्येक रन के लिए कड़ी मेहनत करनी होगी.’

उन्होंने कहा, ‘कई लोग हैं जो भारत की तरफ से खेलना चाहते हैं. जब आप खुद को उस स्थिति में रखते हो तो आपके अंदर भी रनों की वही भूख होनी चाहिए और चीजों को तयशुदा नहीं मानना चाहिए. किसी भी स्तर पर इसे आसान नहीं मानो.’

यहां पढें पूरी खबर—http://v.duta.us/Om2IHAAA

📲 Get क्रिकेट on Whatsapp 💬