[jalore] - विकास की आस से आजादी के बाद पहली बार महिलाओं ने किया था मतदान, अब तक सड़कें टूटी, चिकित्सा सुविधा का भी अभाव

  |   Jalorenews

जालोर विधानसभा क्षेत्र

जालोर. जालोर विधानसभा का ८० किलोमीटर दूर अंतिम गांव दादाल। पिछले चुनावों में खासा चर्चित रहा था। चर्चा का कारण यहां महिलाओं द्वारा मतदान रहा था। ७ हजार आबादी वाले इस गांव में आजादी के बाद पहली बार महिलाओं ने पिछले चुनावों में मतदान किया। दोपहर करीब ३ बजे जालोर विधानसभा के इस गांव पहुंचा। मुख्य मार्ग से भीतर की तरफ बसे इस गांव की सड़कें टूटी हुई थी। भीतर पहुंचने पर ८४ वर्षीय बुजुर्ग रायमल चौधरी से मिला, जो गांव के चौहटे पर ही बैठे थे। गांव के हालातों पर उनसे पूछा तो वे विकास नहीं होने से खासे निराश नजर आए। उन्होंने कहा कि इतने साल बीत गए, लेकिन आज तक यहां चिकित्सा सुविधा का विस्तार नहीं हुआ। केवल एक उप स्वास्थ्य केंद्र है, जिसमें सुविधा नहीं के बराबर ही मिल रही है और नेता, जनप्रतिनिधि केवल चुनावों के समय ही आते हैं। गौरतलब है वर्ष २०१३ में विधानसभा चुनाव में इस गांव में आजादी के बाद पहली बार ५६ प्रतिशत महिलाओं ने मतदान किया था। कुल १३७५ महिलाओं में से ७७२ ने मतदान किया था।...

फोटो - http://v.duta.us/a4L5PQAA

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/aog4UAAA

📲 Get Jalore News on Whatsapp 💬