[raigarh] - झोलाछाप डॉक्टर के इलाज से प्रसूता की मौत, मामला रफा-दफा करने की तैयारी, बचाव में ये कह रहा डॉक्टर

  |   Raigarhnews

रायगढ़. एक गर्भवती महिला की डिलीवरी के समय झोलाछाप डाक्टर द्वारा डिलीवरी कराने के दौरान उसकी मौत हो गई। इस मामले में स्वास्थ्य विभाग द्वारा भी जांच की गई है, लेकिन अभी तक इस मामले में कोई कार्रवाई नहीं होने से संदेह के दायरे में आ रहा है। भूपदेवपुर थाना क्षेत्र से लगभग दो किलोमीटर की दूरी पर स्थित दर्री गांव में रहने वाले संतोष डनसेना नाम के व्यक्ति द्वारा बिलासपुर गांव में मरीजों के ईलाज के लिए एक क्लीनिक का संचालन किया जाता है।

इसी क्लिनिक में बीते 13 अक्टूबर को गांव की गर्भवती रूकमणी बाई पति नरेश चौहान 25 साल जांच के लिए पहुंची थी। जिसके कुछ समय बाद डॉक्टर द्वारा प्रसव की व्यवस्था की गई। जिसमें घर पर ही महिला ने एक बच्ची को जन्म दिया, लेकिन प्रसव के बाद महिला को अधिक रक्तस्त्राव होने से उसकी डेढ़ घंटे बाद मौत हो गई। वहीं इस मामले में जब डाक्टर से बात किया गया तो उनका कहना था कि मैंने मरीज के परिजन को रायगढ़ ले जाने के लिए कहा था, लेकिन एंबुलेंस की व्यवस्था नहीं होने से समय पर नहीं पहुंच पाए और अस्पताल पहुंचने से पहले ही उसकी मौत हो गई।...

फोटो - http://v.duta.us/GXgLgwAA

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/e0sqqgAA

📲 Get Raigarhnews on Whatsapp 💬