[sagar] - 27 साल बाद करवा चौथ पर दोहरा विशेष संयोग,शाम 7.45 के बाद चतुर्थी

  |   Sagarnews

छतरपुर। 27 अक्टूबर को करवा चौथ, सुहाग की सलामती की दुआ मांगने का दिन है। इस व्रत में पति के लिए दिन भर निर्जला उपवास रखने की परंपरा है़,करवा चौथ की तैयारी शुरू हो गयी है। सुहागिन महिलाओं के चेहरे पर व्रत की खुशी अभी से झलकने लगी है। सभी को बेसब्री से शनिवार का इंतजार है। पंडित एमएल पाठक ने बताया, कि शनिवार को शाम 7.58 पर तृतीया समाप्त होते ही चतुर्थी तिथि लग जायेगी,यह रविवार शाम 6.23 तक रहेगी। इस दिन चंद्रमा की राशि रोहिणी 27 वर्षों के बाद आ रही है। यह दुर्लभ योग इस बार करवा चौथ को खास बना रहा है, इस बार अमृत सिद्धि और स्वार्थ सिद्धि योग है। पूजा के लिए शुभ समय शाम 5 बजकर 36 मिनट से 6.53 तक रहेगा। करवा चौथ का व्रत चांद देखकर खोला जाता है,इसलिए व्रत के उद्यापन का समय 7.58 के बाद होगा।...

फोटो - http://v.duta.us/1FuePwAA

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/IN9IqwAA

📲 Get Sagar News on Whatsapp 💬