[tonk] - गाइड लाइन में उलझी समर्थन मुल्य पर खरीद, पर्यवेक्षक के नहीं होने से गुणवत्ता की नही हो रही जांच

  |   Tonknews

टोंक. कृषि उपज मण्डी में समर्थन मूल्य पर पर्यवेक्षक के नहीं होने के कारण गुरुवार को भी कृषि जिन्सों (उड़द) की खरीद नहीं हो सकी। पर्यवेक्षक के अभाव में क्रय विक्रय के कार्मिक फसल गुणवत्ता विहिन बता कर किसानों को लौटा रहे है। इसी प्रकार बारदाना नहीं आने के कारण मंूगफली की खरीद भी शुरू नहीं हो सकी है।

विभिन्न गांवों से जिंस लेकर आए किसानों की पीड़ा यह है कि वह अपने जिंसों को छोडकऱ वापस गांव नहीं जा सकते, क्योंकि उनको लाने में डीजल खर्चा हो चुका है। इससे किसानों में रोष व्याप्त है।

बिचपुड़ा, बमोर, सोनवा, नयागांव आदि से आए किसानों ने बताया कि जिंस तो मण्डी में ले आए हैं, लेकिन नेफैड गुणवत्ता का बहाना बनाकर खरीद नहीं कर रहा है, इससे उन्हें वापस आड़तियों की शरण लेनी पड़ रही है। इससे उन्हें आर्थिक नुकसान के साथ-साथ मानसिक परेशानी हो रही है।...

फोटो - http://v.duta.us/M1uiGQAA

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/1XiFLgAA

📲 Get Tonk News on Whatsapp 💬