[faizabad] - सियासी रही धर्मसभा, अयोध्या फिर उदास

  |   Faizabadnews

राममंदिर निर्माण की न तारीख तय हुई न दिशा

अयोध्या। राम की नगरी अयोध्या फिर छली गई। राममंदिर निर्माण की न तारीख तय हुई न दिशा। युवाओं को उम्मीद थी कि विवाद समाप्त होने की कोई लकीर खींची जाएगी। संत धर्माचार्य सौहार्द और तरक्की के रास्ते खोलेंगे, मगर सवालों को और उलझा कर उदासी ही हाथ लगी।

यही वजह रही कि चढ़ते सूरज के साथ रामनगरी में उमड़ा भक्तों का जोश दोपहर बाद ढलने लगा। अंधियारा होते ही न कहीं जय श्रीराम का उद्घोष था न मंदिर बनाने को लेकर ललकार।

सड़कों पर सिर्फ फोर्स के बूटों की आवाज, सायरन, वायरलेस के शोर और जहां-तहां झंडे-डंडे बिखरे दिखे। अनहोनी की आशंका में हर कोई सशंकित था। मगर एक विश्वास जरूर था कि जैसे ही सूरज ढलने को होगा, धर्मसभा से एक नई सुबह का संदेश जरूर आएगा।...

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/aIQqtgAA

📲 Get Faizabad News on Whatsapp 💬