[kaushambi] - पोस्टमार्टम रिपोर्ट नहीं साफ कर पा रही सर्पदंश की तस्वीर

  |   Kaushambinews

मंझनपुर। प्रदेश सरकार ने सर्पदंश से होने वाली मौतों को भले ही दैवीय आपदा में शामिल कर लिया हो। लेकिन जिले में सर्प दंश से हुई मौतों की तस्वीर साफ नहीं हो पा रही है। नतीजतन सर्पदंश से होने वाली मौत के बाद पीड़ित परिवार को सरकारी इमदाद नहीं मिल पा रहा है। हालात यह है कि अब तक दर्जन भर से ज्यादा आवेदन के बाद भी महज दो परिवारों को दैवीय आपदा का चेक मुहैया कराया जा सका है।

प्रदेश सरकार ने अगस्त माह में सर्पदंश से होने वाली मौत को दैवीय आपदा में शामिल किया है। इसके तहत किसी व्यक्ति की मौत अगर सर्पदंश से होती है तो सरकार की तरफ से पीड़ित परिवार को चार लाख रुपये का चेक दिया जाता है। मानक यह है कि मृतक के शव का पोस्टमार्टम हो और चिकित्सक अपनी रिपोर्ट में मौत का कारण स्पष्ठ तौर पर सर्पदंश लिखे। इसे लेकर जिले में अजीब हाल है। अब तक सर्पदंश से कथित तौर पर हुई पांच मौत का मामला प्रशासन के सामने आया है। दो लोगों की मौत चिकित्सकों ने सर्पदंश से होना बताया। जिस पर सरकार की तरफ से पीड़ित परिवार को मुआवजा मुहैया करा दिया गया। जबकि तीन लोगों की मौत का कारण स्पष्ट नहीं हो सका।...

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/xTab6wAA

📲 Get Kaushambi News on Whatsapp 💬