[lakhimpur-kheri] - घास मैदानों के वैज्ञानिक प्रबंधन को जुटेंगे विशेषज्ञ

  |   Lakhimpur-Kherinews

दुधवा टाइगर रिजर्व जंगल में हैं 20 फीसदी घास के मैदान

लखीमपुर खीरी। दुधवा टाइगर रिजर्व में घास के मैदानों के वैज्ञानिक प्रबंधन के लिए एक उच्चस्तरीय कार्यशाला का आयोजन होने जा रहा है। 28 और 29 नवंबर को डब्ल्यूडब्ल्यूएफ के सहयोग से होने वाली कार्यशाला में विशेषज्ञों के साथ दुधवा टाइगर रिजर्व, पीलीभीत टाइगर रिजर्व के अधिकारियों के अलावा डब्ल्यूडब्ल्यूएफ के अधिकारी हिस्सा लेंगे।

दुधवा टाइगर रिजर्व के फील्ड डायरेक्टर रमेश कुमार पांडेय ने बताया कि जंगल के 20 प्रतिशत हिस्से में घास के मैदान हैं। यह मैदान दुधवा टाइगर रिजर्व की विशेषता है। यहां दो तरह की घासें हैं। अपलैंड ग्रास और लोलैंड ग्रास। लोलैंड ग्रास को वेटग्रास भी कहते हैं। लोलैंड ग्रास शाकाहारी जीवों विशेषकर हिरन के लिए अधिक उपयोगी होती है। लोलैंड ग्रास की बहुलता के कारण ही दुधवा टाइगर रिजर्व में बारासिंगा हिरनों की अधिक आबादी है। अन्य प्रजातियों की भी संख्या लगातार बढ़ रही है।...

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/zhhVHwAA

📲 Get Lakhimpur Kheri News on Whatsapp 💬