[sitapur] - मेडिकल पढ़ाई को देहदान जरूरी

  |   Sitapurnews

मिश्रिख (सीतापुर)। दधीचि देहदान समिति की ओर से रविवार को महर्षि दधीचि मंदिर परिसर में गोष्ठी आयोजित की गई। इसके मुख्य अतिथि महामंडलेश्वर आचार्य अनुभूतानंद जी महाराज ने देहदान की उपयोगिता बताई। कहा कि मानव मात्र के आरोग्य व कल्याण के लिए देहदान अति आवश्यक है। एक व्यक्ति के नेत्रदान करने से करीब चार व्यक्तियों की जिंदगी रोशन होती है। मेडिकल पढ़ाई के लिए देहदान की विशेष महत्ता है।

महामंडलेश्वर आचार्य अनुभूतानंद जी ने आगे बताया कि हिंदू धर्म में ऐसी भ्रांतियां हैं कि यदि किसी अंग का दान कर दिया जाए तो वह अंग अगले जन्म में नहीं मिलेगा। यह बात तार्किक नहीं है, केवल भ्रांति ही है। समिति के अध्यक्ष हर्ष मल्होत्रा ने देहदान के महत्व व उपयोगिता पर प्रकाश डाला। कहा कि संसार में करीब पांच लाख लोग अंगों की कमी के कारण प्रतिवर्ष काल कवलित हो जाते हैं।...

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/cM__PQAA

📲 Get Sitapur News on Whatsapp 💬