👉राजस्थान चुनाव: भरतपुर सबसे संवेदनशील 👊सम्भाग, चुनाव आयोग ने किए सुरक्षा के पुख्ता👮 इंतजाम

मुख्य सचिव डी बी गुप्ता और पुलिस महानिदेशक ओ पी गल्होत्रा ने शनिवार को भरतपुर सम्भाग के चारों जिलों की कानून व्यवस्था और चुनाव सम्बन्धी तैयारियों की समीक्षा की। मुख्य सचिव गुप्ता ने कहा कि यह सम्भाग कानून व्यवस्था की दृष्टि से सबसे ज्यादा संवेदनशील है लेकिन चुनाव आयोग ने इतना सुरक्षा बल उपलब्ध करवाया है कि असामाजिक तत्व चुनाव में किसी प्रकार की गडबडी करने की सोच भी नहीं पायेंगे। हालांकि राज्य के 10 प्रतिशत से भी कम पोलिंग बूथ इस सम्भाग में हैं लेकिन राज्य को चुनाव में आवंटित केन्द्रीय अर्ध सैनिक बलों का 30 प्रतिशत इस सम्भाग को मिला है।

मुख्य सचिव ने बताया कि राजस्थान के चुनाव में मतदाता पहली बार वीवीपैट का प्रयोग कर रहे है इसलिए अतिरिक्त समय लग सकता है। इसमें पर्ची सिस्टम के कारण मतदान में लगने वाला समय बढ़ जायेगा। इसको देखते हुए मतदान कक्ष और उसके बाहर रोशनी के पर्याप्त प्रबन्ध किये जायें जिससे शाम को मतदान तथा इसके बाद दिक्कत न हो। इस चुनाव में निष्पक्ष रहना ही नहीं दिखना भी है। मुख्य सचिव ने बताया कि चुनाव कार्मिक पूरी निष्पक्षता से कार्य करता है लेकिन असावधानी के कारण कई बार विवाद हो जाता है जो उस कार्मिक और हम सबकी छवि खराब करता है।

पुलिस महानिदेशक ओपी गल्होत्रा ने बताया कि जिन लोगों को चुनाव में बाधा डालने की दृष्टि से चिन्हित किया गया है या कोई पूर्व में अन्य मामले में पाबन्द है, उनके द्वारा पाबन्दी का उल्लघंन करते ही सीआपीसी की धारा 122 के अन्तर्गत कार्रवाई की जाएगी। अवैध शराब के भण्डारण, निर्माण पर कठोर कार्रवाई होगी, अवैध हथियारों की जब्ती के लिए विशेष तलाशी अभियान चलाए जाएंगे। अन्तर्राज्यीय नाकों को हाई अलर्ट पर रखें तथा वहां वीडियोग्राफी भी होगी। साथ ही आयोग ने निर्देश दिया कि सभी उत्तरप्रदेश, हरियाणा और मध्यप्रदेश के उच्च पदस्थ पुलिस अधिकारियों के सम्पर्क में हैं।

यहां पढ़ें पूरी खबर- http://v.duta.us/pojADAAA

📲 Get rajasthannews on Whatsapp 💬