[hanumangarh] - चुनाव के चक्कर में ‘चुनाव’ में देरी

  |   Hanumangarhnews

नहरी चुनाव के बाद नहरों की कमान सौपेंगे किसानों को

विधानसभा चुनाव में कर्मचारियों की ड्यूटी लगने के कारण नहरी चुनाव करवाने में देरी

हनुमानगढ़. विधानसभा चुनाव के चक्कर में नहरी चुनाव में देरी हो रही है। हालांकि नहरी चुनाव को लेकर कई दिन पहले ही वोटर लिस्ट आदि बनाने की प्रक्रिया शुरू कर दी गई थी। लेकिन अचानक विधानसभा चुनाव को लेकर आचार संहित लगने के कारण नहरी चुनाव की प्रक्रिया अटक गई। अब दिसम्बर के अंत में ही नहरी चुनाव की प्रक्रिया फिर से शुरू होने की संभावना है। इसके बाद पानी की बारी बांधने व पर्ची बनाने के काम के लिए किसानों को अफसरों के आगे हाथाजोड़ी करने की जरूरत नहीं पड़ेगी। नहरी महकमा भाखड़ा परियोजना की द्वितीय खंड के अधीन नहरों में जल उपयोक्ता संगठनों के चुनाव करवाने के बाद कई अधिकार उपयोक्ता संगठनों को सौंप देगा। भाखड़ा परियोजना की ४९ कच्ची नहरों के होने वाले चुनाव में हजारों किसान अपने मताधिकार का प्रयोग कर नहर अध्यक्षों का निर्वाचन कर सकेंगे। राजस्थान सिंचाई प्रबंधन में कृषकों की सहभागिता अधिनियम २००० के तहत भाखड़ा सिंचाई प्रणाली के जल उपयोक्ता संगम अध्यक्षों के चुनाव करवाए जाएंगे। नहरी चुनाव संपन्न होने के बाद नहरों की कमान किसानों के हाथ में सौंप दी जाएगी।...

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/mJTc5QAA

📲 Get Hanumangarh News on Whatsapp 💬