[kota] - चुनावी साल में आंसू बहा रहा अन्नदाता

  |   Kotanews

कोटा - चुनावी चमक से दूर यहां नैनों में आंसूकिसान पीड़ा.....घरों में भंडारण, रोज की चाकरीकोटा। हाड़ौती के किसानों को लहसुन के दामों ने ऐसा दगा दिया कि अब तक भी नहीं उभर पाए है। लहसुन की फिर बुवाई का सीजन आ गया है, लेकिन किसानों के घर-आंगन लहसुन से ठसाठस भरे हैं।

किसानों को सरकार ने लहसुन खरीद का टोकन दे दिया था, इस टोकन से किसान बाजार हस्तक्षेप योजना में 3257 रुपए प्रति क्विंटल की दर से खरीदने की उम्मीद लगाए बैठे हैं। इस कारण लहसुन का भण्डारण कर रखा है। इसकी रखवाली ही किसानों को भारी पड़ रही है।चुनाव नजदीक आते ही सभी चुनावी रंग में रंग गए हैं लेकिन अन्नदाता कहलाने वाला किसान आज भी घरों में अपनी रूलाई रो रहा है। भाव नहीं मिलने से किसानों ने लहसुन घरों में स्टॉक कर रखा है।...

फोटो - http://v.duta.us/HD_VKgAA

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/hmfQHQAA

📲 Get Kota News on Whatsapp 💬