[kuchaman-city] - समय पर पूरी नहीं होती दिख रही पशुगणना!

  |   Kuchaman-Citynews

कुचामनसिटी. पशुपालन विभाग की ओर से करीब एक माह के विलंब से शुरू हुई पशुगणना समय पर पूरी होती नहीं दिख रही है। इसके पीछे पर्याप्त प्रगणक व टेबलेट नहीं होना कारण है। विभाग ने पशुगणना के लिए 66 प्रगणक ग्रामीण क्षेत्र में तथा ६ प्रगणक शहरी क्षेत्र में लगाए हैं। वहीं प्रगणकों को छह तहसीलों लाडनूं, नावां, कुचामन, डीडवाना, मकराना, परबतसर के * गांवों के पशुओं की गणना करनी हैं। पशुगणना का कार्य तीन माह के अंदर पूरा करना है। ऐसे में संसाधन कम होने पशुगणना का कार्य समय पर पूरा होना नहीं दिख रहा है। स्थिति यह है कि कार्मिकों को सुबह 9 से शाम 4 बजे तक कार्यालय की ड्यूटी भी देनी पड़ रही है। इसके उपरांत पशुगणना करनी पड़ रही है। सर्दी का मौसम होने के कारण शाम 6 बजे ही शाम हो जाती है। ऐसे में कार्मिकों को प्रर्याप्त समय नहीं मिल पा रहा है। जबकि प्रगणकों को गाय-भैंस, भेड़, बकरी, घोड़ा, कच्छर, हाथी, ऊंट पक्षियों की प्रजाति मुर्गी-मुर्गा, टरकी इत्यादि की गणना करनी है। प्रगणकों को पशुगणना के लिए 72 टेबलेट वितरित किए गए हैं। गौरतलब है कि पूर्व में पशुगणना का कार्य एक अक्टूबर से शुरू होना था, लेकिन तकनीकी समस्या के चलते पशुगणना का कार्य एक माह बाद 9 नवम्बर से शुरू हुआ। हालांकि विभाग अपना पूरा प्रयास कर रहा है, लेकिन उसे पूरी सफलता नहीं मिल रही है। पशुगणना का कार्य वर्ष 2017 में शुरू होना था, लेकिन यह कार्य 2018 में शुरू हुआ है।...

फोटो - http://v.duta.us/KY9iQAAA

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/I-4DiwAA

📲 Get Kuchaman City News on Whatsapp 💬