[allahabad] - किराया जमा न करने पर किरायेदार बचाव का हकदार नहीं

  |   Allahabadnews

हाईकोर्ट ने कहा है कि किरायेदारी विवाद में यदि किरायेदार तय धनराशि नौ प्रतिशत ब्याज के साथ पहली सुनवाई के दिन जमा नहीं करता है तो उसे मिला बचाव का अधिकार समाप्त हो जाएगा। किरायेदार या तो धनराशि जमा करे या दस दिन के भीतर जमा करने की अनुमति प्राप्त करे, तभी वह अपने बचाव के अधिकार का प्रयोग कर सकता है। ऐसा नहीं होने पर मकान मालिक की अर्जी पर उसका बचाव का अधिकार समाप्त हो जाएगा।

कोर्ट ने अधीनस्थ न्यायालय द्वारा किरायेदार को बचाव के अधिकार से वंचित करने के आदेश को सही करार दिया है। कोर्ट ने किरायेदार की याचिका दस हजार रुपये हर्जाने के साथ खारिज कर दी है। फर्रुखाबाद के मुकेश वर्मा की याचिका पर यह आदेश न्यायमूर्ति एसपी केसरवानी ने दिया है। कोर्ट के समक्ष प्रश्न था कि क्या सिविल प्रक्रिया संहिता के प्रावधानों के तहत किरायेदार के किराया राशि जमा न करने पर उसका बचाव का अधिकार समाप्त हो जाएगा। कोर्ट ने इस पर विचार के बाद कहा कि संहिता की के आदेश 15 और नियम पांच के उपबंध बाध्यकारी हैं।

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/iQLyFgAA

📲 Get Allahabad News on Whatsapp 💬