[azamgarh] - एसआरआई पद्वति से धान के रोपाई के लिए किया प्रोत्साहित

  |   Azamgarhnews

आजमगढ़। कृषि भवन सभागार में बुधवार को उप कृषि निदेशक डॉ. आरके मौर्य की अध्यक्षता में सब-मिशन ऑन एग्रीकल्चर एक्सटेंशन योजनान्तर्गत वर्ष 2018-19 खरीफ में कृषक वैज्ञानिक संवाद का आयोजन किया गया। इसमें सभी ब्लाकों के 50 प्रगतिशील किसानों ने प्रतिभाग किया। मुख्य अतिथि डॉ. आरके सिंह ने दीप प्रज्ज्वलन कर किया। बताया कि विभाग की किसी भी योजना का लाभ प्राप्त करने के लिए ऑनलाइन पंजीकरण कराना अनिवार्य है। विद्युत आपूर्ति की समस्या को दृष्टिगत सोलर पंप किसानों के लिए लाभकारी है। दो एचपी सोलर पंप लगाने पर किसानों को 50820 रुपये, तीन एचपी पर 80997 और पंच एचपी पर 205200 रुपये किसानों को देना होगा। ढैंचा बीज के मूल्य और अनुदान के संबंध में जानकारी दी गई। डा. आरके सिंह धान की उन्नत प्रजाति, बीज शोधन, खेत की तैयारी, समय से बुवाई, सिंचाई और रोग व्याधियों के बारे में बताया। एसआरआई पद्वति से धान के रोपाई के लिए किसानों को प्रेरित किया। डा. आरपी सिंह ने मधुक्खी पालन और मशरूम की खेती से किसानों की आय दो-गुना करने के उपाय बताए। अधिशाषी अभियंता खण्ड-32 राजीव कुमार पाण्डेय ने बताया कि मई माह में पोखरों और तालाबों को भरने के लिए नहरों में पानी छोड़ा जाएगा। किसान नहरों को काटे न और कुलाबों को खुला न छोड़ें। ताकि नहर के टेल तक पानी पहुंचे। डा. पंकज सिंह ने मिट्टी की जांच और पंक्तिबद्ध बुवाई के लिए किसानों को प्रोत्साहित किया। पूर्व जिला कृषि रक्षा अधिकारी एलबी सिंह ने कीट और रोग के निदान तथा सुरक्षित भण्डारण के बारे में बताया। संचालन डा. हरिनाथ सिंह यादव ने किया। हीराराम मौर्य, सुदामा यादव, जयप्रकाश सिंह, रवि गौतम, दीपक सिंह, राजेन्द्र, ओमकार पाठक आदि उपस्थित रहे।

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/uYYHywAA

📲 Get Azamgarh News on Whatsapp 💬