[budaun] - रोडवेज बस में सुरक्षा गार्ड की बंदूक से चली गोली लगने से युवक की मौत

  |   Budaunnews

रोडवेज बस में सुरक्षा गार्ड की बंदूक से

चली गोली लगने से युवक की मौत

युवक के पिता ने हत्या और लूट के प्रयास की धाराओं में लिखाई रिपोर्ट

दिल्ली से बदायूं होकर फर्रुखाबाद जा रही थी रोडवेज बस यात्रियों ने आरोपी को मौके पर दबोचा, पुलिस के हवाले किया

बदायूं। रोडवेज बस में एक सुरक्षा गार्ड की लाइसेंसी बंदूक से चली गोली पड़ोस में बैठे दूसरे यात्री को जा लगी। घायल को जिला अस्पताल ले जाने पर उसे मृत घोषित दिया गया। घटना के बाद यात्रियों ने आरोपी सुरक्षा गार्ड को दबोच लिया और पुलिस के हवाले कर दिया। मृतक के पिता की ओर से आरोपी सुरक्षा गार्ड के खिलाफ यहां सिविल लाइंस थाने में हत्या और लूट के प्रयास की धाराओं में रिपोर्ट दर्ज कराई है। बरेली डिपो की बस दिल्ली से वाया बदायूं होकर फर्रुखाबाद जा रही थी।

मंगलवार तड़के करीब 3.30 बजे बरेली डिपो की बस संख्या यूपी 27 टी 8415 दिल्ली से सवारियां लेकर फर्रुखाबाद जा रही थी। रोडवेज परिचालक पंकज शर्मा के बराबर वाली सीट पर फर्रुखाबाद जिले के अमृतपुर थाना क्षेत्र के पिथनापुर गांव निवासी 22 वर्षीय राजीव कुमार चौहान पुत्र ओमप्रकाश चौहान और उनका साला बबलू सिंह निवासी ग्राम सहोरापुर थाना पचदियोरा जिला हरदोई बैठे थे। यह बस यहां शहर के सिविल लाइंस थाना क्षेत्र में बदायूं-दिल्ली रोड स्थित राजकीय मेडिकल कॉलेज के सामने पहुंची। वहां कुछ सवारियां उतरीं तो बस में पीछे बैठा सहसवान थाना क्षेत्र के सिरकी दम्मू गांव निवासी सुरक्षा गार्ड गजेंद्र आगे सीट पर राजीव कुमार चौहान के पास बैठ गया। गजेंद्र के पास लाइसेंसी बंदूक भी थी। पुलिस के मुताबिक बस चलने के दौरान अचानक बेल्ट टूटने से बंदूक नीचे गिरी और चल गई। बंदूक से निकली गोली पड़ोस की सीट पर बैठे राजीव कुमार के जा लगी। जिससे वह गंभीर रूप से घायल हो गया। गोली चलते ही बस में अफरा-तफरी मच गई। लोगों ने आरोपी गजेंद्र को मौके पर दबोच लिया। ड्राइवर बस को सीधे शेखूपुर पुलिस चौकी ले गया। पुलिस ने घायल राजीव को उसी बस से जिला अस्पताल भेजा। जहां डॉक्टर ने उसे मृत घोषित कर दिया। इसके बाद आरोपी को सिविल लाइंस थाने भेज दिया गया। सूचना मिलने पर परिवार वाले जिला अस्पताल पहुंच गए। आरोपी गजेंद्र दिल्ली की एक सुरक्षा एजेंसी में गार्ड है, जो रिश्तेदारी में कादरचौक जा रहा था।

राजीव के पिता ओमप्रकाश चौहान की ओर से सिविल लाइंस थाने में रिपोर्ट दर्ज कराई गई है। उनका आरोप है कि गजेंद्र ने राजीव से 50 हजार रुपये मांगे थे। इसका विरोध करने पर गजेंद्र ने सीधे गोली मार दी, जो राजीव की गर्दन में लगी। राजीव नोएडा के एक रेस्टोरेंट में सुपरवाइजर था, जो छुट्टी लेकर शादी समारोह में घर जा रहा था।


वर्जन..............

शुरुआती छानबीन और बस में सवार यात्रियों से पूछताछ करने पर आरोपी की बंदूक गिरने पर गोली चलने की बात सामने आई है। फिलहाल तहरीर के आधार पर रिपोर्ट दर्ज कर ली गई है। घटना की गहराई से छानबीन की जा रही है। आरोपी हिरासत में है। जांच में जो हकीकत सामने आएगी उसके आधार पर कार्रवाई की जाएगी।

  • वीरेंद्र सिंह यादव, सीओ सिटी

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/zNpZtQAA

📲 Get Budaun News on Whatsapp 💬