[hardoi] - आग में जली हजारों बीघा फसल, 220 मकान

  |   Hardoinews

बुधवार को जनपद में अलग-अलग इलाकों में खेतों आग लगने से हजारों बीघा फसल जल गई। वहीं 220 मकान भी जल गए। बड़े पैमाने पर गेहूं की फसल जलने से किसान फफक-फफक कर रो पड़े। सवायजपुर तहसील के पांच गांवों में ही राजस्व विभाग के मुताबिक 140 एकड़ यानी लगभग 700 बीघा फसल जल गई। सूत्र बताते हैं कि ये आंकड़ा वास्तव में दो हजार बीघे से अधिक का है। राजस्व विभाग के मुताबिक धिकहा में 20 एकड़, उधरनापुर में 20 एकड़, विरसिंगपुर में 50 एकड़ और मतिहापुर में 40 एकड़ फसल जली है।

सवायजपुर तहसील क्षेत्र के ग्राम भैनामऊ में बुधवार दोपहर बाद एक धार्मिक स्थल के करीब से उड़ी चिंगारी से गेहूं की तैयार फसल में आग लग गई। दोपहर में चली तेज हवाओं के कारण देखते ही देखते आग बढ़ गई। भैनामऊ के खेतों से शुरू हुई आग थोड़ी ही देर में ग्राम ढिकहा पहुंच गई और यहां के खेतों में तैयार गेहूं की फसल भी जलने लगी। इस दौरान रास्ते में पड़े कूड़े के ढेर, कंडे की बठिया (तकरीबन 50) भी आग की चपेट में आ गए। यहां ब्रजकिशोर, राजकिशोर, शिवसागर, मल्लू आदि किसानों की फसल जल गई। इसके बाद आग बरबन के रास्ते मतिहापुर के खेतों तक फैल गई। आग भैलामऊ, उधरनापुर, अलियापुर, मत्तीपुर, बड़ौरा, देवपुर, मतिहापुर, विरसिंगपुर तक फैली। लगातार विकराल होती आग के बारे में जानकारी पाकर उपजिलाधिकारी सवायजपुर सर्वेश गुप्ता प्रशासनिक अमले के साथ पहुंच गए। भाजपा जिलाध्यक्ष श्रीकृष्ण शास्त्री भी घटनास्थल पर पहुंचे। दमकल के साथ अगिभनशमन अधिकारी पीसी गौतम भी वहां पहुंचे। दमकल के कर्मचारियों को काफी मशक्कत करनी पड़ी। शाम लगभग साढ़े छह बजे इन इलाकाें में आग पर काबू पाया जा सका। उधर दूसरी ओर बेनीगंज कोतवाली क्षेत्र के ग्राम करीमनगर में इश्तियाक के घर के सामने चूल्हे की राख घूरे में डाल दी गई। हवा का साथ पाकर आग भड़क गई और देखते ही देखते आसपास के घरों में आग फैल गई। ग्रामीणों का दावा है कि लगभग 50 घरों में आग लगने से सब कुछ तहस-नहस हो गया।

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/E_vQfQAA

📲 Get Hardoi News on Whatsapp 💬