[agra] - टीबी रोगियों की सेहत का ख्याल रखेगी सरकार

  |   Agranews

मथुरा। पुनरीक्षित राष्ट्रीय क्षय रोग नियंत्रण कार्यक्रम में अब रोगियों की सेहत का ख्याल सरकार रखने जा रही है। उत्तर प्रदेश में इसकी शुरुआत मथुरा से हो गई। इसके तहत प्रदेश में सबसे पहले टीबी के 41 मरीजों को पोषण सहायता प्रदान करने के लिए बैंक को सूची जारी कर दी। प्रधानमंत्री की पहल पर देश से टीबी जैसी खतरनाक बीमारी को खत्म करने के लिए पुनरीक्षित राष्ट्रीय क्षय रोग नियंत्रण कार्यक्रम संचालित किया जा रहा है। इसमें सरकार टीबी के मरीजों को 500 रुपये मासिक पोषण सहायता प्रदान करने जा रही है। इस कार्यक्रम में उन लोगों को भी प्रोत्साहन राशि प्रदान होगी, जो सहयोगी भूमिका अदा कर रहे हैं। उत्तर प्रदेश में टीबी के मरीजों को पोषण सहायता प्रदान करने की शुरुआत मथुरा से हो गई है। मथुरा पहला जनपद हैं जहां वर्तमान अप्रैल माह में ही पंजीकृत हुए टीबी के मरीजों के नाम पोषण सहायता के लिए संबंधित बैंकों को भेजे गए हैं। कार्यक्रम समन्वयक आलोक तिवारी ने बताया कि जनपद में 225 से अधिक मरीजों का पंजीकरण हुआ है, लेकिन 41 मरीजों का बैंक खाता नंबर और आधार उपलब्ध होने पर नाम संबंधित बैंक को भेज दिए गए हैं। पहली बार 1000-1000 रुपये प्रत्येक मरीज को मिलेगा। यह दो माह की अग्रिम पोषण सहायता राशि होगी। उन्होंने बताया कि सरकार ने टीबी के मरीजों के पंजीकरण के साथ बैंक खाता और आधार की अनिवार्यता कर दी है। जिनके बैंक खाते नहीं हैं, उनके जनधन योजना में बैंक खाते खुलवाने के भी आदेश दिए हैं। वृंदावन में भर्ती होंगे मरीज जनपद के टीबी मरीजों को अब आगरा एसएन मेडिकल कालेज नहीं भेजा जाएगा। यह सुविधा जनपद में वृंदावन स्थित सौ सैय्या हास्पिटल में प्रदान कर दी गई है। यहां अति गंभीर मरीजों को भर्ती करने के लिए वार्ड बना दिया गया है।

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/Hce4UQAA

📲 Get Agra News on Whatsapp 💬