[azamgarh] - विलंब शुल्क के खिलाफ आटो चालकों ने बिगुल फूंका

  |   Azamgarhnews

आजमगढ़। ट्रक के समान आटो रिक्शा के फिटनेस पर विलंब शुल्क लगाने के विरोध में आटो चालकों ने बिगुल फूंक दिया है। सोमवार को आटो रिक्शा चालक समिति उत्तर प्रदेश के अध्यक्ष कृपाशंकर पाठक के नेतृत्व में आटो चालक जिलाधिकारी कार्यालय पहुंचे। छह सूत्रीय मांग-पत्र सौपकर व्यवस्था में सुधार की मांग की। समिति के प्रदेश अध्यक्ष कृपाशंकर पाठक ने कहा कि आटो रिक्शा, ई-रिक्शा चलाकर चालक परिवार का भरण पोषण करते हैं। सरकार ने ट्रक से लेकर आटो रिक्शा तक एक समान फिटनेस पर 50 रुपये प्रतिदिन के हिसाब से विलंब शुल्क ले रही है। फिटनेस का समय पूरा होने के एक सप्ताह पूर्व ही एक हजार रुपये दंड शुल्क वसूले जा रहा है। ट्रक और आटो रिक्शा में जमीन आसमान का फर्क है। यही लाइट लाइसेंस धारकों के साथ भी हो रहा है। लाइसेंस के वर्गीकरण के नाम पर अवैध धन उगाही की जा रही है। समिति के पदाधिकारियों ने मांग किया कि आटो रिक्शा को 15 साल चलाने की वैधता दी जाए। फिटनेस के नाम पर हो रही धन उगाही तत्काल बंद की जाए। वनवे का कड़ाई से पालन कराया जाए। नो इंट्री क्षेत्र में ई-रिक्शा से लेकर बड़े वाहनों के प्रवेश पर रोक लगाई जाए। प्रभुनारायण पाण्डेय प्रेमी, छोटेलाल, शाहिद, हलधर दूबे, विरेन्द्र यादव, वरुण शर्मा, अंजनी, शंभू, कैलाश यादव, राजू यादव, अनिल सिंह, मधुसुदन पाण्डेय, कोमल चौबे, राजेन्द्र तिवारी, मुकेश लाल, महमूद, गणेश साहनी, सुरेन्द्र, अनिल तिवारी, रामअवतार गोंड, रामा आदि मौजूद थे।

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/EsFDYAAA

📲 Get Azamgarh News on Whatsapp 💬