[ballia] - दलित बाहुल्य 17 गांवों का होगा कायाकल्प

  |   Ballianews

बलिया। जिले के 17 अनुसूचित जाति व जनजाति बहुल गांवों की सूरत बदलने की कवायद शुरू हो गई है। शासन की ओर से ऐसे गांवों का चयन कर सूची जनपद में प्रशासन को भेज दी गई है। डीआरडीए के पीडी ने संबंधित ब्लॉकों के बीडीओ को इन गांवों में विकास कार्यों की पड़ताल करते हुए रिपोर्ट प्रस्तुत करने के लिए कहा है। अनुसूचित जाति व जनजाति बहुल गांवों को शासन की ओर से संचालित सभी तरह के विकास योजनाओं व लाभार्थी परक योजनाओं से संतृप्त किया जाएगा। इसके लिए शासन ने वर्ष 2011 की जनगणना के आधार पर अवरोही क्रम में 17 अनुसूचित जाति व जनजाति बहुल गांवों का चयन करते हुए सूची प्रशासन को उपलब्ध कराई है। सूची के अनुसार प्रत्येक ब्लॉक का एक गांव चयनित है। शासन ने इन गांवों में ग्राम स्वराज अभियान के तहत चौपाल लगाकर ग्रामीणों की समस्याएं सुनने उसका निस्तारण करने का निर्देश दिया है। इसके अलावा गांवों में पूर्व में कराए गए विकास कार्यों की पड़ताल करते हुए अधूरे कार्यों को पूरा कराने तथा सभी तरह के विकास कार्यों से संतृप्त करने का निर्देश है। इन गांवों में लाभार्थी परक योजनाओं के लाभार्थियों का सत्यापन करने व शेष पात्र लाभार्थियों को योजना का लाभ देने का भी निर्देश शासन ने दिया है। शासन के निर्देश के अनुसार इन गांवों के पात्र लाभार्थियों को आवास योजनाओं व शौचालय निर्माण से भी संतृप्त किया जाना है। शासन की ओर से सूची प्राप्त होने के बाद इन गांवों के कायाकल्प को लेकर कार्रवाई भी शुरू हो गई है। डीआरडीए के पीडी की मानें तो इस बाबत सभी ब्लॉकों के बीडीओ पत्र भेज कर गांवों में विकास कार्य आदि से संबंधित सत्यापन रिपोर्ट मांगी गई है। सत्यापन रिपोर्ट मिलने के बाद इन गांवों में सभी तरह के विकास कार्य आदि कराए जाएंगे। अनुसूचित जाति व जनजाति बहुल 17 गांव चयनित गांवों में पंदह ब्लॉक का पूर, मुरलीछपरा का इब्राहिमाबाद उपरवार, नवानगर का सीसोटार, नगरा ब्लॉक का नगरा गांव, रसड़ा का सराय भारती, सोहांव का नरहीं व सीयर का पीपरपाती गांव हैं। इसके अलावा बेलहरी ब्लाक का बेलहरी, चिलकहर का हजौली, बैरिया का श्रीनगर, बांसडीह का खरौनी, रेवती का सिंगही, गड़वार का बलेजी, बेरुआरबारी का सुखपुरा, दुबहड़ का नगवां, मनियर का चंदायर व हनुमानगंज ब्लॉक का बसंतपुर गांव का चयन किया गया है। इनसेट... चयनित गांवों में हैं 41789 अनुसूचित जाति व जनजाति आबादी बलिया। शासन ने जिले के अनुसूचित जाति व जनजाति बाहुल्य प्रत्येक ब्लॉक के एक गांव को चयनित किया है। इन कुल 17 गांवों में वर्ष 2011 की जनगणना के अनुसार कुल 41 हजार 789 की आबादी है। इसमें सबसे अधिक मुरलीछपरा ब्लाक के इब्राहिमाबाद उपरवार में कुल आबादी 20790 के सापेक्ष 4656 व सबसे कम नगरा ब्लॉक के नगरा गांव में कुल आबादी 14405 के सापेक्ष 2796 है। हालांकि चयन का आधार ब्लाक स्तरीय गांवों को आधार बनाया गया है। वर्जन = शासन की ओर से जिले के अनुसूचित जाति व जनजाति बाहुल्य 17 गांवों का चयन कर सूची उपलब्ध कराई गई है। इन गांवों को विकास कार्यों व लाभार्थी परक योजनाओं से संतृप्त करने के लिए सभी ब्लॉकों को पत्र जारी किया गया है। - आरके त्रिपाठी पीडी, डीआरडीए, बलिया एनडी राय

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/pxTDOwAA

📲 Get Ballia News on Whatsapp 💬