[chhattisgarh] - छत्तीसगढ़ में सीआरपीएफ ने 12,000 उम्रदराज सैनिकों को हटाने का फैसला इस वजह से किया

  |   Chhattisgarhnews

केन्द्रीय सशस्त्र पुलिस बल (सीआरपीएफ) ने छत्तीसगढ़ के वामपंथी उग्रवाद (एलडब्ल्यूई) प्रभावित इलाकों में अपने नक्सली विरोधी अभियानों में फुर्ती लाने और ताकत बढ़ाने के लिए 12,000 उम्रदराज सैनिकों को हटाकर युवा और नए भर्ती हुए जवानों को तैनात करने का फैसला किया है।

देश में एलडब्ल्यूई के खिलाफ लड़ाई में अहम ताकत के रूप में सीआरपीएफ ने हाल ही में 20,000 नए सैनिकों की भर्ती की और उन्हें प्रशिक्षण दिया है। अब इस 'युवा शक्ति' को खतरनाक अभियानों में तैनात करने की योजना बनाई गई है, जिसमें जवानों को कठिन प्राकृतिक परिस्थितियों में जंगलों में कई-कई दिने बिताने पड़ते हैं।

एक वरिष्ठ अधिकारी के मुताबिक युवा और प्रेरित अधिकारियों को तैनात कर अपने अभियानों में नई ताजगी लाने के लिए अर्धसैनिक बल की उस रणनीति के तौर पर पहली बार यह प्रयोग किया जा रहा है।

अधिकारी ने कहा, "18-21 साल की उम्र के लगभग 12,000 नए प्रशिक्षित भर्ती किए गए युवा छत्तीसगढ़ में जल्द ही 45-50 साल के की उम्र के अपने पुराने सहयोगियों की जगह पर तैनात किए जाएंगे।"

उन्होंने कहा कि इस फैसले का उद्देश्य लड़ाई करने वाली फोर्स की प्रोफाइल युवा रखनी है। साथ ही उन्होंने बताया कि इस कदम को केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल के महानिदेशक आरआर भटनागर ने मंजूरी दे दी है।

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/ksEbqwAA

📲 Get Chhattisgarh News on Whatsapp 💬