[deoria] - भगवद् अनुज्ञा के साथ ब्रह्मोत्सव का आगाज

  |   Deorianews

देवरिया। कसया रोड स्थित भक्ति वाटिका तिरुपति बालाजी मंदिर में छह दिवसीय श्री ब्रह्मोत्सव कार्यक्रम का शुभारंभ सोमवार को हुआ। उत्सव में भाग लेने के लिए मुंबई, कोलकाता सहित अन्य स्थानों से साधक, संत-महंत एवं संयासी आए हैं।

मंदिर के पीठाधीश्वर राजनारायणाचार्य ने बताया कि शहर में दक्षिण भारतीय द्रविड़ शैली का बना हुआ यह मंदिर अत्यंत विलक्षण है। 26 अप्रैल को श्रीवेंकटेश्वर भगवान का विवाह उत्सव होना है। इसकी तैयारी जोरों से चल रही है। इस उत्सव का आरंभ सृष्टि के प्रारंभ में ब्रह्माजी ने की थी। इसलिए इस उत्सव को ब्रह्मोत्सव कहते हैं। सुबह में कार्यक्रम का प्रारंभ भगवद अनुज्ञा से हुआ। इसके बाद मृत्तिका संग्रह (मटकोड़वा) कार्यक्रम को दक्षिण के आचार्यों ने वैदिक विधि से संपादित किया। ध्वजारोहण के लिए गरुड़ जी की प्रतिष्ठा तथा अंकुरारोपण किया गया। भक्तों ने नाचते गाते हुए श्रीविष्वक्सेन की सवारी परिसर के निरीक्षण के लिए निकाला। उन्होंने बताया कि जो स्थान शिव परिवार में गणेश का है, वही स्थान विष्णु परिवार में श्रीविष्वक्सेन का है।

आज होगा ध्वजारोहण

बालाजी मंदिर में ब्रह्मोत्सव में 24 अप्रैल को सुबह सात बजे रक्षाबंधन, ध्वजारोहण, श्रीवेंकटेश्वर भगवान की सूर्यप्रभा सवारी, दोपहर 12 बजे अभिषेक, शाम छह बजे से नित्ययज्ञ, भगवान की शेषवाहन सवारी एवं गोष्ठी व प्रसाद कार्यक्रम होगा।

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/OnsGzQAA

📲 Get Deoria News on Whatsapp 💬