[firozabad] - पटाखा बनाते समय विस्फोट, युवक के चीथड़े उड़े

  |   Firozabadnews

फिरोजाबाद/सिरसागंज। थाना क्षेत्र के गांव धातरी में पटाखे बनाने के दौरान हुए धमाके में एक युवक के चीथड़े उड़ गए। जबकि पटाखा बनाने वाला कमरा मलवे में तब्दील हो गया। धमाके की गूंज कई किमी दूर तक सुनाई दी। मौके पर पहुंची पुलिस ने शव मलवे से निकाल कर पोस्टमार्टम के लिए भेजा। डीएम नेहा शर्मा एवं एसएसपी डा.मनोज कुमार ने घटना स्थल का निरीक्षण कर पीड़ित परिवार को ढांढस बंधाया।

सिरसागंज थाना क्षेत्र के ग्राम धातरी निवासी सिराजउद्दीन उर्फ पिंकू (34) पुत्र मुन्ने खां हाइवे के किनारे स्थित ग्राम जरैली स्थित होटल के पास पटाखा बनाने का काम करता है। एक वर्ष पूर्व उसने पटाखे बनाने का लाइसेंस लिया था। सहालग सीजन के लिए पिंकू कमरे में पटाखों की बत्ती बनाने के लिए बारूद पीस रहा था। इसी दौरान अचानक बारूद से चिंगारी निकली और पास में रखे बारूद पर जा गिरी। जब तक सिराजउद्दीन कुछ समझता तब तक धमाके के साथ विस्फोट हो गया।

धमाके की तीव्रता इतनी थी कि कमरे की पत्थर वाली छत लगभग बीस फुट ऊपर तक उछल कर खेत में जा गिरी और कमरे की दवारें मलवे में तब्दील हो गईं। इतना ही नही सिराजउद्दीन के शरीर के चीथड़े उड़ गए। उसके हाथ अंगुलियां कई मीटर दूर जाकर गिरीं और शव मलवे में दब गया। धमाके की आवाज सुनकर ग्रामीण पहुंचे तो मंजर देखकर हर कोई सन्न रह गया।मौके पर पहुंची पुलिस ने शव निकाल कर पोस्टमार्टम के लिए भेजा। घटना के बाद डीएम नेहा शर्मा और एसएसपी डा.मनोज कुमार, सीओ सिरसागंज अजय सिंह चौहान, सीएफओ जशवीर सिंह, शिकोहाबाद विधायक डा. मुकेश वर्मा मौके पर पहुंचे और पीड़ित परिवार को ढांढस बंधाया।

ग्राम धातरी में रहने वालों का पटाखे बनाने का काम पुस्तैनी है। इस व्यवसाय को करते हुऐ कई परिवारों ने ऐसी घटनाओं में अपनों को खोया है। तीन वर्ष पहले भी पटाखों में विस्फोट होने से दो लोगों की जान चली गई थी। जबकि 2016 में सिरसागंज के मियां बाजार में पटाखा बनाते समय हुए विस्फोट में एक युवक की मौत हुई थी।

सिरसागंज। धातरी में रहने वाला सिराजउद्दीन उर्फ पिंकू अपने पिता मुन्ने खां के साथ पटाखे बनाने का काम करता था। एक साल पहले उसने अपना अलग लाइसेंस लेकर पटाखे बनाने लगा। इससे होने वाली आमदनी से वो परिवार चला रहा था। सिराज के परिवार में उसकी पत्नी मजादा बेगम के अलावा बेटी समाया (18), बेटा अदनान (16), तुन (13) एवं शाहिल (10) एवं शाहीद (7) शामिल हैं। सिराजुद्दीन की अचानक मौत से परिवार में कोहराम मच गया है।

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/GqFuZAAA

📲 Get Firozabad News on Whatsapp 💬