[madhya-pradesh] - मध्यप्रदेश: शिव'राज' का सच, 15 साल के शासनकाल में 25 फीसदी लोग बने मजदूर

  |   Madhya-Pradeshnews

मध्यप्रदेश में विकास के लिए मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की सरकार ने किसानों से लेकर छात्रों तक के लिए बहुत सी योजनाएं शुरू की है। प्रदेश के लोगों को बेहतर जीवन स्तर मिल सके इसके लिए आए दिन सरकार सर्वे भी करवाती है। इसी बीच एक हैरान करने वाला आंकड़ा सामने आया है। श्रमिक कल्याण योजनाओं को और बेहतर बनाने के लिए एक मीटिंग की गई जिसके बाद पता चला कि प्रदेश में तकरीबन 2 करोड़ लोग ऐसे हैं जो मजदूरी करते हैं।

यह आंकड़ा 2011 की जनगणना के अनुसार बताया गया है। यानि प्रदेश की 25 फीसदी आबादी ऐसी है जो मजदूरी के काम में लगी हुई है। सरकार द्वारा किए जा रहे विकास कार्यों के बीच ये संख्या हैरान करने वाली है। बता दें कि राज्य में सबसे ज्यादा कृषि पर आश्रित लोग हैं। यहां असंगठित क्षेत्र के तहत करीब 1.85 करोड़ मजदूर खुद को श्रमिकों की श्रेणी में पंजीकृत है।

इस पर मध्यप्रदेश के श्रम मंत्री बालकृष्ण पाटीदार का कहना है कि सरकार लिस्ट को अपडेट करवाएगी। उन्होंने बताया कि जिन किसानों के पास 2.50 एकड़ से कम भूमि है उन्हें भी मजदूरों की श्रेणी में रखा गया है। वहीं जो लोग इनकम टैक्स भर रहे हैं या पेंशन ले रहे हैं उनकी भी लिस्ट दोबारा जांच के बाद जारी की जाएगी। उन्होंने कहा कि आने वाले दिनों में मजदूरों की संख्या में कमी आ सकती है।

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/p79_TwAA

📲 Get Madhya Pradesh News on Whatsapp 💬