[rampur-bushahar] - दलीप सिरमौरी के गीतों पर थिरके दर्शक

  |   Rampur-Bushaharnews

अमर उजाला ब्यूरो

रोहड़ू।

राज्य स्तरीय रोहड़ू मेले की दूसरी सांस्कृतिक संध्या में लोक गायक दलीप सिरमौरी, लोकिंद्र चौहान, काकु चौहान, गीता भारद्वाज व अनुज शर्मा की प्रस्तुतियां मुख्य आकर्षण रहीं। कलाकार दलीप सिरमौरी ने गिरी आ रे पानी रे, पानी री टांकी हो, सुकी चिलो रे बनाने तख्ते, बांशा कांडे के मोरो, शिमलेमं रहने वालिये, किंदे ले चाले भागारथिये गीतों की प्रस्तुति से दर्शकों को झूमने पर मजबूर कर दिया। सांस्कृतिक संध्या में दो दर्जन से अधिक कलाकारों ने प्रस्तुतियां देकर लोगों का मनोरंजन किया।

दूसरी सांस्कृतिक संध्या की शुरूआत लोक कलाकार नीतिश चौहान ने की। पूजा चौधरी, रूप राज डंडियाण, विक्रांत जस्टा, सोनू भारद्वाज, जोगिंद्र संगरेल, पंकज, बाबी देवा, दीपराज, रमन नेगी, महेंद्र शर्मा, डिंपल ठाकुर, पुष्पेंद्र कंवर, रंजीत भारद्वाज, योगेश म्यूजिकल, कुलभूषण शर्मा, नितिन कौशल, राजपाल, राजीव नेगी, पंकज शर्मा ने प्रस्तुतियां दी। इसके बाद संध्या का आकर्षण इंडियन आइडल फेम गीता भारद्वाज ने एक आधिया मंगाई जा रहे, बुरा नी मानना मेरी बाता रा, मेरे प्यारूआ मेरे खानी जलेबी सहित कई गीतों की प्रस्तुति दी। कोटखाई के लोक गायक काकु चौहान ने रूशी देई रूशना सिखा, शालु विस्की पिलाई जा रे, धारो पांदे लागो, चूड़पुरा जाना चूड़पुरा, परदेसिया यह सच है पिया की प्रस्तुति से वाहवाही लूटी। इंडियन आइडल फेम अनुज शर्मा ने ले जाए मुझे कहां हवाएं, लट्ठे दी चादर, कब तक जवानी छुपाओगी रानी, आंखा दे कटोरे आदि की प्रस्तुति दी। जुब्बल के लोक गायक लोकिंद्र चौहान ने बुरा लागा तेरा बे, तेरी परांऊठी लागा रेडिया, हो सरला काली झुड़के, नाटी बोला घुमकुए ना सहित अन्य गीतों की प्रस्तुति दी।

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/MATR5gAA

📲 Get Rampur Bushahar News on Whatsapp 💬